अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के राष्ट्रपति पद सँभालते हुए 00 दिन पुरे हो गए हैं लेकिन उन्होंने अब तक कोई विदेश यात्रा नहीं की हैं. लेकिन उन्होंने अब अपनी पहली विदेश यात्रा के रूप में सऊदी अरब जाने का फैसला किया हैं.

उनके सऊदी अरब जाने के पीछे कहना हैं कि वह इस्लामी जगत के साथ मजबूत संबंध कायम करना चाहते हैं. वह आतंकवादियों को हराने के लिए मुसलमान नेताओं के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं.

और पढ़े -   40 फीसदी रोहिंग्या मुसलमान म्यांमार छोड़ कर गए बांग्लादेश पलायन: संयुक्त राष्ट्र

ट्रंप के एक पाकिस्तानी अमेरिकी समर्थक साजिद तरार ने कहा कि सऊदी अरब की यात्रा करने का ट्रंप का निर्णय यह दर्शाता है कि वह इस्लाम के खिलाफ नहीं, बल्कि आतंकवादियों के खिलाफ हैं.

‘मुस्लिम अमेरिकन्स फॉर ट्रंप’ के संस्थापक तरार ने कहा कि इसलिए वह सऊदी अरब से अपनी पहली यात्रा की शुरूआत कर रहे हैं. तरार उन कुछ चयनित धार्मिक नेताओं में शामिल थे जिन्हें रोज गार्डन में राष्ट्रपति के ‘नेशनल प्रेयर डे’ संबोधन के लिए गुरूवार को व्हाइट हाउस ने आमंत्रित किया था.

और पढ़े -   बांग्‍लादेश ने भारत को चेताया - नहीं रुका रोहिंग्याओं का पलायन तो पुरे क्षेत्र में पैदा होगा खतरा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE