जर्मनी के हैम्बर्ग में जी-20 सम्मेलन में भाग लेने के लिए पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को जमकर उग्र विरोध का सामना करना पड़ा था. यहाँ तक कि जर्मनी के ट्रम्प को हैम्बर्ग में होटल में कमरा तक भी नहीं दिया गया था. ऐसा ही विरोध का ट्रम्प को फ्रांस में भी सामना करना पड़ा.

फ़्रांस के स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में भाग लेने पहुँचे ट्रम्प के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने जमकर नारेबाजी की. प्रदर्शनकारी नारे लगा रहे थे अमरीका और फ़्रांस का समर्थन करते हैं लेकिन ट्रम्प स्वीकार नहीं. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि फ़्रांस में रासायनिक पदार्थ का आयात प्रतिबंधित है तो फिर ट्रम्प का दौरा क्यों हुआ ?

और पढ़े -   मंसूर हादी यमन युद्ध के लंबा खिचने का मुख्य कारणः अमीराती राजदूत

फ़्रांसिसी मीडिया ने भी ट्रम्प को स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में बुलाए जाने पर आपत्ति जताई है. फ़्रांसीसी मीडिया का कहना कि यह देश की स्वाधीनता को चोट पहुंचाने के समान है.

हालांकि इस दौरान ट्रम्प ने संकेत दिया कि वह पेरिस जलवायु समझौते से बाहर निकलने के अपने निर्णय पर पुनरविचार कर सकते हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE