सीरिया को लेकर अमेरिका ने अपने रुख में परिवर्तन किया है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने घोषणा की कि उन्होंने सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल-असद के खिलाफ लड़ रहे विद्रोहियों को समर्थन नहीं करेंगे. उन्होंने विद्रोहियों को समर्थन देने के कार्यक्रम को बंद करते हुए कहा कि ये ‘विशाल, खतरनाक और फिजूलखर्ची’ वाला था.

ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, ‘अमेजन वाशिंगटन पोस्ट ने असद के खिलाफ सीरियाई विद्रोहियों को विशाल, खतरनाक और फिजूल की धनराशि वाले अभियान को बंद करने के मेरे फैसले को तोड़-मरोड़कर पेश किया.’

और पढ़े -   रोहिंग्या नरसंहार के चलते ब्रिटेन ने म्यांमार सेना को दी जाने वाली मदद पर लगाई रोक

अमेरिका के विशेष अभियान के प्रमुख जनरल टोनी थॉमस ने इसकी पुष्टि की. उन्होंने कहा कि चार साल पुराने इस अभियान को बंद कर दिया गया है लेकिन उन्होंने इस बात को खारिज किया यह फैसला रूस को संतुष्ट करने की इच्छा से प्रेरित है. रूस असद सरकार का समर्थन करता है.

गौरतलब है कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने असद सरकार के खिलाफ विभिन्न चरमपंथी संगठनों द्वारा मांगी गई विदेशी सहायता के तौर पर विद्रोहियों को सहायता देने के कार्यक्रम को वर्ष 2013 में मंजूरी दी थी.

और पढ़े -   पहली बार मीडिया के सामने आया उत्तर कोरिया का तानाशाह, ट्रम्प को बताया मानसिक बीमार

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE