donald trump and sadik khan coldwar

मुस्लिम समुदाय को अमेरिका में प्रवेश सम्बंधित बयान को लेकर डोनाल्ड ट्रम्प के रुख में अचानक से नरमी आई है गौरतलब है की ट्रम्प ने अपने बयान में कहा था की अगर वो प्रेसिडेंट बनते है तो अमेरिका में मुस्लिम समुदाय का प्रवेश पूरी तरह बंद कर देंगे, हालाँकि उनके इस बयान को लेकर दुनियाभर में तीखी आलोचना भी हुई थी लेकिन अपने बयान पर पूरी तरह कायम रहने वाले डोनाल्ड ट्रम्प ने किसी की नही सुनी.

और पढ़े -   तनाव के बीच अमेरिका ने उत्तरी कोरिया की और रवाना किया एक और जंगी बेड़ा

हाल ही में लन्दन के नवनिर्वाचित मेयर सादिक खान से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा की दुनियाभर में इस्लामी आतंकवाद फैला हुआ है फिर भी अगर वो प्रेसिडेंट बनते है तो पाकिस्तानी मूल के सादिक खान को अमेरिका आने का न्यौता देंगे हालाँकि वह खान के आलोचक हैं.

जिसके जवाब में सादिक खान ने दो टूक सुनाते हुए कहा की डॉनल्ड ट्रंप और उनकी टीम को मेरा संदेश है कि इस्लाम के प्रति आपके विचार अज्ञानता से भरे हैं। किसी मुस्लिम का पश्चिम में रहना संभव है। मुस्लिम होते हुए अमेरिका से प्यार करना भी संभव है।’ दिसंबर में ट्रंप ने कहा था कि जब तक हमारे देश के प्रतिनिधि यह नहीं पता लगा लेते कि चल क्या रहा है, तब तक अमेरिका में मुस्लिमों का प्रवेश पूरी तरह बंद कर दिया जाना चाहिए।’

और पढ़े -   सऊदी न्याय मंत्रालय ने संयुक्त राष्ट्र के प्रायोजित तकनीकी उत्कृष्टता पुरस्कार जीता

सादिक खान की तरफ से इस जवाब के अगले ही दिन डोनाल्ड ट्रम्प के तेवर ढीले पढ़ते दिखयी दिए अब डोनाल्ड ट्रम्प का कहना है की उन्होंने मुस्लिम समुदाय को लेकर अस्थाई प्रतिबंध की बात कही थी ना की पूर्ण रूप से रोक लगाने की.

वैसे उनके इस नए तेवर को देखकर उनके चाहने वालो की संख्या में कमी आ सकती है

और पढ़े -   नेपाल, भूटान, बांग्लादेश और श्रीलंका से भी बदतर है भारतियों को मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधाएं

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE