“अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवारी की होड़ में आगे चल रहीं हिलेरी क्लिंटन ने मुस्लिम विरोधी जुमलेबाजी पर अपने रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करते हुए उनके बयानों को आपराधिक एवं खतरनाक बताया। इससे पहले लातीनी तथा अफ्रीकी मूल के अल्पसंख्यक मतदाताओं को गोलबंद करने की मुहिम चलाने के क्रम में हिलेरी क्लिंटन और उनकी ही पार्टी के बर्नी सैंडर्स के बीच नस्ल तथा आव्रजन के मुद्दे पर तीखी नोक-झोंक भी हुई।”

राष्ट्रपति पद के चुनाव की चर्चा में शिरकत करते हुए हिलेरी ने कहा, हमें यह समझने की जरूरत है कि अमेरिकी मुसलमान हमारी रक्षा की अगली पांत में हैं। इसकी ज्यादा गुंजाइश है कि वे जानते होंगे कि उनके परिवारों और उनके समुदायों में क्या हो रहा है और उन्हें यह एहसास होना जरूरी है कि वे न सिर्फ आमंत्रित हैं बल्कि अमेरिकी समाज में उनका स्वागत है। उन्होंने कहा, तो जब डोनाल्ड ट्रंप जैसा कोई शख्स और अन्य अमेरिकी मुसलमानों के खिलाफ भावनात्मक गोलबंदी की तिकड़मबाजी करता है तो हमें देश में नुकसान होता है। यह न सिर्फ आपराधिक है, बल्कि खतरनाक भी है। हिलेरी ने एक सवाल के जवाब में कहा, यही बात विदेशों के लिए है जहां हमें मुस्लिम देशों का एक गठबंधन बनाना है। हमें पता है कि यह कैसे करना है। मैंने एक गठबंधन बनाया जिसने ईरान पर प्रतिबंध लगाए जिससे हम उनके परमाणु हथियार कार्यक्रम बंद करने के लिए वार्ता की मेज पर आए। उन्होंने कहा, जब अमेरिका के राष्ट्रपति के लिए आपके पास एक अग्रणी उम्मीदवार है जो उनके धर्म का अपमान करता है तो आप मुस्लिम देशों को नहीं कह सकते कि आप उन्हें गठबंधन का हिस्सा बनाना चाहते हैं। इस तरह, आपको समग्रता में देखना होगा, और हमें हर एक कोण से जाना होगा।

और पढ़े -   क़तर ने किया स्पष्ट - जब तक नहीं हटेंगे प्रतिबंध, नहीं होगी कोई आधिकारिक वार्ता

न्यू हैंपशायर की प्राइमरी में मंगलवार को सैंडर्स के हाथों बुरी हार का सामना कर चुकीं हिलेरी अपनी चुनावी गति दोबारा पाने की कोशिश में मशगूल हैं और वह खुद को ज्यादा तार्किक, व्यावहारिक और प्रगतिशील व्यक्ति के रूप में पेश करने की कोशिश कर रही हैं। नेवाडा तथा साउथ कैरोलिना में अपनी चुनावी किस्मत आजमाने जा रहे हैं दोनों नेताओं के समक्ष नस्ल और आव्रजन का यह मुद्दा आया है। दोनों ही प्रांतों में अल्पसंख्यकों की बड़ी आबादी है। क्लिंटन ने अपने शुरूआती बयान में कहा, मैं उन अवरोधों से निबटना चाहती हूं जो अभी इतने ढेर सारे अमेरिकियों की राह में खड़े हैं। उन्होंने कहा, अफ्रीकी मूल के अमेरिकी रोजगार बाजार, शिक्षा, आवास और फौजदारी न्याय प्रणाली में भेदभाव का सामना कर रहे हैं। खौफ में जी रहे मेहनती आव्रजक परिवारों को इस साए से निकाला जाए ताकि उनका और उनके बच्चों को बेहतर भविष्य मिल सके। गारंटी हो कि महिलाओं को काम का बराबर का भुगतान हो जिसकी वे हकदार हैं।

और पढ़े -   सऊदी अरब 1 जुलाई से लागू करेगा 'डिपेंडेंट टैक्स', विदेशी कामगारों को झेलनी होगी आर्थिक मार

पीबीएस न्यूजआवर की ओर से चर्चा के सीधे प्रसारण में हिलेरी ने बार-बार राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ अपने रिश्तों पर जोर दिया। ओबामा अल्पसंख्यक मतदाताओं के बीच बेहद लोकप्रिय हैं। आव्रजन सुधार पर भी चर्चा का एक प्रमुख विषय रहा। दोनों उम्मीदवारों ने अमेरिका में बिना दस्तावेज वाले तकरीबन एक करोड़ 10 लाख आव्रजकों को नागरिकता पाने की राह दिलाने की हिमायत की और ओबामा प्रशासन की ओर से ऐसे आव्रजकों को उनके देश भेजे जाने की घटनाओं में हाल के इजाफे की आलोचना की। हिलेरी ने वमोट के 74 वर्षीय सीनेटर सैंडर्स पर आरोप लगाया कि उन्होंने 2007 में आव्रजन सुधार विधेयक के खिलाफ वोट डाला था। सैंडर्स ने अपने वोट का यह कहते हुए बचाव किया कि नागरिक अधिकार और आव्रजक समूहों ने भी इस विधेयक का विरोध किया था।

और पढ़े -   केरल: सड़क का नाम रखा गया 'गज़ा', फिलिस्तीनी नाम होने पर उठाई गई आपत्ति

दुनिया में अमेरिका की भूमिका पर एक सवाल के जवाब में हिलेरी ने कहा कि अमेरिका को आतंकवादी जंजालों के खिलाफ कार्रवाई करनी होगी, खास तौर पर आईएसआईएस के खिलाफ। सैंडर्स ने कहा कि अमेरिका जैसे शक्तिशाली देश अपने सहयोगियों के साथ मिल कर निश्चित तौर पर पूरी दुनिया से तानाशाहों को हटा सकता है। (outlookhindi)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE