ch

सिंधु जल समझौते को तोड़ने की धमकी के बाद पाकिस्तान ने चीन के जरिये दबाव बनाना शुरू कर दिया हैं. पाकिस्तान के कहने पर चीन ने तिब्बत में ब्रह्मपुत्र की सहायक नदी का प्रवाह रोक दिया है.

चीन ने अपनी सबसे बड़ी परियोजना हाइड्रो प्रोजेक्ट के लिए तिब्बत में ब्रह्मपुत्र नदी की एक सहायक नदी को बंद कर दिया है. जिससे भारत में चिंता पैदा हो सकती है, क्योंकि चीन के इस कदम से भारत के असम, सिक्कम और अरुणाचल प्रदेश में पानी की आपूर्ति में कमी आ सकती है.

और पढ़े -   ट्रम्प ने बांधे सीसी के तारीफों के पूल, कहा- जल्द ही करूँगा मिस्र का दौरा

शिन्हुआ में छपी खबर के मुताबिक लाल्हो परियोजना के निर्माण कार्य के चलते पानी को रोकना पड़ा है. लाल्हो परियोजना तिब्बत में ब्रह्मपुत्र पर चीन की सबसे महंगी पनबिजली परियोजना है. इस परियोजना की लागत 4.95 अरब युआन लगभग 5 हजार करोड़ रुपए है.

गौरतलब रहें कि भारत द्वारा पाकिस्तान में सिंधु का पानी रोके जाने की धमकी पर पाकिस्तान ने कहा था कि अगर भारत सिंधु जल समझौता तोड़ता हैं तो चीन भारत के लिए ब्रह्मपुत्र का पानी रोक देगा.

और पढ़े -   कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान ने अंतराष्ट्रीय न्यायालय के फैसले को मानने से किया इंकार

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE