sar

उडी हमले के बाद दोनों देशो ने के बीच बड़ते तनाव और तल्ख्पूर्ण रिश्तों के बीच भारत ने सिंधु समझोते की समीक्षा कर इस समझोते को तोड़ने का संकेत दिया हैं. इसके जवाब में पाकिस्तान ने पलटवार करते हुए कहा कि अगर सिंधु का पानी हिंदुस्तान ने रोका तो चीन फिर ब्रह्मपुत्र का पानी रोक देगा.

किस्तान में विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज  ने कल पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में कहा कि सिंधु का बदला ब्रह्मपुत्र से लिया जाएगा. इसके अलावा पाकिस्तान ने सिंधु जल समझोते के टूटने पर इंटरनेशनल कोर्ट में जाने की भी धमकी दी हैं.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमो पर आंग सान सु ने तोड़ी चुप्पी कहा, रोहिंग्या म्यांमार में आतंकी हमलो में शामिल, अन्तराष्ट्रीय दबाव नही झुकेंगे

इसको लेकर वाशिंगटन में पाकिस्तानी प्रतिनिधियों ने विश्व बैंक के वरिष्ठ अफसरों से मुलाकात कर इस समझौते के सबंध में चर्चा की.

उल्लेखनीय है कि करीब 3 हजार किलोमीटर लम्बी चीन से निकलने वाली ब्रम्हपुत्र नदी भारत में असम होते हुए बांग्लादेश में बहती है. ब्रह्मपुत्र पर बांध को लेकर पहले से ही भारत और चीन में विवाद जारी है. ऐसे हालातों में में चीन इस मामले को कितनी गहराई से लेगा यह कहना मुश्किल है.

और पढ़े -   अलकायदा ने किया मदद का ऐलान, रोहिंग्या बोले नहीं चाहिए आतंकियों से कोई मदद

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE