azahar-masood-580x395

चीन ने एक बार फिर भारत को झटका देते हुए पाकिस्तान के समर्थन में मसूद अजहर को आतंकी घोषित होने से बचा लिया हैं. अगर संयुक्त राष्ट्र में चीन टो नहीं लगाता तो भारत की मांग पर मसूद को संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकी घोषित कर दिया जाता.

चीन के इस कदम से भारत की ओर से पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र की ओर से आतंकवादी घोषित करवाने के प्रयास पर उसकी ओर से लगाई गई तकनीकी रूकावट बढ़ गई है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की कमेटी ने भारत की मसूद अजहर को आतंकी घोषित करने की अर्जी को स्वीकार कर लिया था लेकिन चीन के वीटो के कारण कामयाबी नहीं मिल पाई.

और पढ़े -   कुर्दिस्तान के जनमत संग्रह के खिलाफ एक हुए ईरान, इराक़ और तुर्की

भारत की मांग पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के 14 देशों ने मुहर लगा दी थी यदि चीन वीटों नहीं लगाता तो मसूद को आतंकी घोषित कर दुनिया भर की संपत्तियां जब्त कर ली जाती जिसके बाद उसका जीना मुश्किल हो जाता.

जैश ए मोहम्मद का सरगना मसूद अजहर भारत पर कई हमले करा चूका हैं. इसी साल पठानकोट में सेना के एयरबेस पर हुए हमले में मसूद का हाथ था.

और पढ़े -   कैलाश सत्यार्थी ने की रोहिंग्या जनसंहार पर सू ची की चुप्पी को बताया "अस्वीकार्य"

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE