बीजींग | चीन के शिनजियांग प्रांत में एक बड़ी आबादी मुस्लिमो की है. उइगर समुदाय के ये लोग चीन के उत्पीडन से खासे परेशान रहते है. चीन , मुस्लिमो को किसी भी हाल में उनके धार्मिक कर्तव्यों का निर्वहन करने से रोकने में लगा हुआ है. चूँकि अब रमजान का पाक महीना चल रहा है इसलिए चीन ने ऐसे ऐसे हथकंडे अपनाने शुरू कर दिए है जिससे की मुस्लिम किसी भी सूरत में रोजे न रख पाए.

और पढ़े -   पहली बार मीडिया के सामने आया उत्तर कोरिया का तानाशाह, ट्रम्प को बताया मानसिक बीमार

वर्ल्ड उइगर कांग्रेस के मुताबिक , शिनजियांग प्रान्त के अधिकारियो ने इलाके के सभी रेस्तरों को खोले रखने के आदेश दिए है. इसके अलावा शुक्रवार के दिन सभी मुस्लिम छात्रों को आदेश दिया है की वो उस दिन सामूहिक पढ़ाई के लिए अनिवार्य रूप से उपस्थित रहेगे. इस दौरान पढ़ाई के अलावा उनको कम्युनिस्ट फिल्मे दिखाई जायेंगी और कुछ खेल प्रतियोगिताओ का भी आयोजन होगा.

इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के अनुसार सरकार तमाम हथकंडे अपनाकर उइगर समुदाय की धार्मिक अभिव्यक्ति को खत्म करना चाहता है. इसलिए बे काउंटिंग में ब्यूरो ने अपने सभी पार्टी कार्यकर्ताओं को आदेश दिया है की वो सभी पब्लिक बिल्डिंग्स की 24 घंटे निगरानी करेंगे. इस निगरानी की वजह से लोगो का रोजा रखना लगभग असंभव सा हो गया है. उधर होतान काउंटी में छात्रों को शुक्रवार के दिन अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने के आदेश दिए है.

और पढ़े -   मुस्लिम पड़ोसियों ने बचाई गर्भवती रोहिंग्या हिन्दू की जान, बांग्लादेश में ली हुई है शरण

मालूम हो की शुक्रवार का दिन मुस्लिमो के लिए बेहद अहम् होता है. इस दिन मस्जिदों में जुमे की नमाज अदा की जाती है. इसलिए ऐसा करने से रोकने के लिए चीन ऐसे हथकंडे अपना रहा है. जब इस बारे में होतान काउंटी के अधिकारियो से बात की गयी तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. दरअसल चीन नही चाहता की मुस्लिम अपनी धार्मिक आजादी के साथ जिये. इसलिए पिछले साल चीन ने मुस्लिमो पर दाढ़ी रखने और बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया था.

और पढ़े -   अंतर्राष्ट्रीय न्यायाधिकरण ने म्यांमार को 'रोहिंग्याओं के नरसंहार' का दोषी पाया

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE