चीन ने सिक्किम सेक्टर से भारत को सेना हटाने की चेतावनी के साथ युद्ध की भी धमकी दी है. चीन की और से कहा गया कि समझौते के लिए बातचीत की पहली शर्त सिक्किम से भारतीय सेना की वापसी है.

भारत में चीन के राजदूत लू झाओहुई ने एक साक्षात्कार के दौरान कहा कि ‘गेंद भारत के पाले में है और भारत को यह तय करना है कि किन विकल्पों को अपनाकर इस गतिरोध को खत्म किया जा सकता है’.

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में कहा गया कि चीन, भारत को समझाने की हर मुमकिन कोशिश कर रहा है और शांति से समस्या के समाधान के लिए ईमानदारी से काम रहा है. अगर भारत नहीं सुनता है, तो फिर चीन के पास समस्या को सुलझाने के लिए सैन्य तरीका आजमाने के सिवा कोई रास्ता नहीं बचेगा.’

ग्लोबल टाइम्स की टिप्पणी के बारें में पूछे जाने पर चीन के राजदूत ने कहा,  ‘कई विकल्पों के बारे में बातें हो रही हैं. यह आपकी सरकार की नीति (सैन्य विकल्प का इस्तेमाल करना है या नहीं) पर निर्भर करता है’.

झाओहुई ने कहा, ‘भारतीय सैनिकों की बिना शर्त भारतीय सीमा में वापसी पहली प्राथमिकता है. चीन और भारत के बीच किसी भी सार्थक संवाद के लिए यह पूर्व शर्त है’ चीन के राजदूत ने कहा कि ‘नकारात्मक प्रभाव को कम करने के लिए भारत द्वारा अपने सैनिकों को तत्काल वापस बुलाना अहम है. ये दोनों देशों के हितों से जुड़ा हुआ है’.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE