हाल ही में उत्तरी कोरिया द्वारा आईसीबीएम अर्थात अंतरमहाद्विपीय मीज़ाईल टेस्ट को लेकर अमेरिका भड़का हुआ है. ऐसे में अमेरिका ने उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ और पाबंदी लगाने या सैन्य कार्यवाही करने   लिए सयुंक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाई है.

इस बैठक में रूस और चीन ने उत्तर कोरिया के खिलाफ किसी भी तरह की कार्यवाही का विरोध किया है.  रूस के उपदूत व्लादमीर सैफ़रोनकोफ़ ने कहा कि वह उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ और पाबंदी लगाने या सैन्य कार्यवाही करने के ख़िलाफ़ है.

उन्होंने कहा, “इसी तरह उत्तर कोरिया की आर्थिक नाकाबंदी भी क़ुबूल नहीं है क्योंकि दसियों लाख लोगों को मानवीय सहायता की बहुत ज़रूरत है. यूएन अपना रोल निभा रहा है. मानवीय कोशिशों का ध्रुवीकरण नहीं होना चाहिए.”

सुरक्षा परिषद की इस बैठक में चीन के दूत ल्यू जिये ने भी कहा कि उनका देश उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ सैन्य कार्यवाही के ख़िलाफ़ है.

ल्यू जिये ने कहा, “चीन कोरिया प्रायद्वीप में टकराव व अस्त व्यस्तता का कड़ाई से विरोध करता है. इस संबंध में सैन्य मार्ग को विकल्प नहीं अपनाना चाहिए.”


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE