अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों की तैनाती और उनके अधिकार क्षेत्र में वृद्धि को लेकर चीन अमेरिका पर भड़क गया है. चीन का कहना है कि वाशिंग्टन को अफगानिस्तान की संप्रभुता का सम्मान करना चाहिये.

चीनी विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने कहा है कि अमेरिकी सरकार के इस कदम का क्षेत्र की सुरक्षा पर सीधा प्रभाव पड़ेगा जबकि हर सैनिक कार्यक्रम का आधार व लक्ष्य अफगानिस्तान की संप्रभुता के सम्मान के साथ इस देश में शांति व सुरक्षा की स्थापना होना चाहिये.

चीन का मानना है कि अफगानिस्तान में जो आतंकवादी गुट आईएसआईएस अस्तित्व में आया है उसका लक्ष्य इस देश में अमेरिकी सैनिकों की अधिक संख्या का औचित्य दर्शाना है. साथ ही चीन का मानना है कि अमेरिका की यह कार्यवाही चीन की सीमा तक केन्द्रीय एशिया की अशांति का कारण बनेगी.

ऐसे में अब चीन अफगानिस्तान की शांति वार्ता को नये सिरे से आरंभ कराने के लिए अधिक सक्रिय हो गया है और इस संबंध में वह प्रभावी व महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के प्रयास में है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE