amn

‘एमनेस्टी इंटरनेशनल’ द्वारा बेंगलुरू में  कश्मीर पर आयोजित एक कार्यकर्म के लिए देशद्रोह का मामला दर्ज होने पर अमेरिका इस संस्था के समर्थन में खुलकर उतर आया हैं.

विदेश विभाग के उप प्रवक्ता मार्क टोनर ने कहा, “एमनेस्टी इंटरनेशनल के मामले को लेकर मुझे खेद है. जैसा कि हम दुनियाभर में करते हैं, हम अभिव्यक्ति की आजादी और सभा का समर्थन करते हैं.”

और पढ़े -   जानिए: 1967 से मस्जिदुल अक़्सा पर होने वाले प्रमुख इस्राईली हमलो की जानकारी

टोनर से कश्मीर में विभिन्न परिवारों की स्थिति पर ‘ब्रोकन फैमलीज’ नामक कार्यक्रम आयोजित करने को लेकर भारत में इस संस्था के खिलाफ देशद्रोह का आरोप लगाए जाने के बारे में सवाल किया गया था.

टोनर ने कहा, “इसकी जांच से संबंधित विवरण के लिए आपको पुलिस के पास जाना चाहिए, लेकिन निश्चित तौर पर मैं कहूंगा कि हम एमनेस्टी और अन्य की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार का सम्मान करते हैं.”

और पढ़े -   सऊदी हमले के कारण यमन के करोड़ों लोग साफ पीने के पानी से वंचित

टोनर की यह टिप्पणी कर्नाटक के गृहमंत्री जी. परमेश्वरा के यह कहने के एक दिन बाद आई है कि उन्होंने एमनेस्टी को ‘कोई क्लीन चिट नहीं दी है.’


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE