अमेरिकी उद्योगपति कार्ल लिंडनर जूनियर दुनिया के उन चुनिंदा लोगों में से एक हैं जो स्कूल से 10वीं से पढ़ाई छोड़ने के बाद भी अरबपत‌ि बने। कार्ल लिंडनर जब 14 साल के ‌थे तभी पढ़ाई छोड़कर घरवालों के साथ अपने दूध के काम में जुट गए थे।
Carl Lindner Jr. story of a high school dropout billionaireजानकारी के अनुसार लिंडनर के घरवाले एक डेयरी चलाते थे जिसके लिए लिंडनर दूर-दूर से दूध लाने का काम करते थे। डेयरी के काम में उनका का मन इतना ज्यादा लगा कि उन्होंने इसके लिए पढ़ाई तक बीच में छोड़ दी। लेकिन उनकी मेहनत रंग लाई और  जल्द ही अपने डेयरी बिजनेस को उन्होंने एक बड़े इलाके में फैला लिया।

और पढ़े -   डोनाल्ड ट्रंप पहुंचे सऊदी अरब - 100 बिलियन डॉलर का होगा रक्षा सौदा, अरब नाटो पर भी बनेगी राय

लिंडनर के तीन बच्चे हुए और सभी  डेयरी कारोबार से जुड़ गए। इसके बाद उनका बिजनेस ऐसा जमा कि वह देखते ही देखते दुनिया सबसे अमीर लोगों में से एक हो गए।

आइसक्रीम की दुकान से बढ़ा बिजनेस

अपने पिता की डेयरी के लिए दूध लाने वाले लिंडनर जब बड़े हुए तो अपने भाइयों के सा‌थ मिलकर एक आइसक्रीम शॉप खोली। आइसक्रीम शॉप से उन्हें काफी मुनाफा हुआ तो उन्होंने शहर के कई इलाकों में अपनी दुकानों की संख्या बढ़ा ली।

और पढ़े -   बहरैन के धर्मगुरू ईसा क़ासिम को सुनाई गई एक साल की सज़ा

धीरे-धीरे कुछ सालों में उन्होंने अमेरिका में आइसक्रीम की 2000 दुकानें खोल लीं। इसके बाद उन्होंने 1999 में चिंक्विटा ब्रांड इंटरनेशनल को खरीद लिया। इस समय तक उनका कारोबार 1.7 बिलियन डॉलर यानी करीब पौने दो अरब डॉलर तक पहुंच गया था।

2006 में आई दुनिया के सबसे अमीर 400 लोगों की लिस्ट में उन्हें133 वां स्‍थान मिला। इस समय उनके परिवार का कुल कारोबार 2.3 बिलियन डॉलर आंका गया है। (Amar Ujala)

और पढ़े -   डोनाल्ड ट्रम्प ने की महमूद अब्बास और बेंजामिन नेतन्याहू से मुलाक़ात

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE