बच्चों की ठीक से देखभाल न करने वाले या उन पर ध्यान न रखने वाले पैरेंट्स को शारजाह में तीन साल तक की कैद और जुर्माना दोनों हो सकते हैं। ‘गल्फ न्यूज़ डॉट कॉम’में प्रकाशित एक खबर के मुताबिक शारजाह में हाई राइज़ बिल्डिंग्स की बालकनी या विंडोज से बच्चों के गिरने का घटनाएं बढ़ने लगी हैं। इसलिए यह कानून बनाना पड़ा कि ऐसी घटनाओँ में माता-पिता या डोमेस्टिक हेल्प की लापरवाही साबित होने पर उन्हें कैद किया जा सकता है।

‘गल्फ न्यूज़ डॉट कॉम’ ने शारजाह की कॉम्प्रेहेंशन पुलिस के डायेक्टर कर्नल खलीफा कलंदर के हवाले से लिखा है कि शारजाह के रेज़िडेंशियल टॉवर्स में चाइल्ड प्रूफ होम बनाना कानूनन जरूरी है। इसके बावजूद माता-पिता के लिए कंपलसरी किया गया है कि वो अपने बच्चों की अनदेखी न करें। बीते साल हाई राइज़ रेज़िडेंशियल टॉवर्स की बालकनी से बच्चों के गिरने की कुल सात घटनाएं हुईं। इनमें से एक मां को लापरवाही की दोषी पायी गयी। उसको शारजाह के नियमों के अनुसार 3500 दरहम औ एक साल की सख्त सजा भी दी गयी। (News24)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें