कनाडा के टोरंटो में प्रधानमन्त्री जस्टिन ट्रूडो के सिख अलगाववादियों के कार्यक्रम में शामिल होने पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है.

भारत के विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बाग्ले ने गुरुवार को कहा कि नई दिल्ली ने इससे पहले कनाडा में सिख अलगाववादियों की गतिविधियों के बारे में अपनी चिंता से अवगत करा दिया था. उन्होंने कहा कि कनाडा में सिख अलगाववादियों की ओर से कार्यक्रम का आयोजन, इस बात का चिन्ह है कि यह अलगावादी गुट यहां अपनी गतिविधियां जारी रखे हुए है.

दरअसल कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने भारत की आपत्ति के बावजूद 30 अप्रैल को टोरंटो में ख़ालिस्तान लेबरेशन फ़ोर्स के कमान्डरों और सिख अलगावादियों को सम्मानित करने के लिए आयोजित होने वाले कार्यक्रम में भाग लिया था.

गौरतलब रहें कि कनाडा की संसद ने अप्रैल के आरंभ में 1984 में सिद्ध विरोधी दंगों के दौरान जातीय सफ़ाए से संबंधित भारत ले खिलाफ प्रस्ताव पारित किया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE