कथित मानवाधिकारों के गंभीर उल्लंघन को लेकर कनाडा ने CRPF के पूर्व आईजी हवाईअड्डे से ही वापस भेज दिया. टीएस ढिल्लन गत 18 मई को अपनी पत्नी के साथ कनाडा गए थे. जैसे ही वे हवाईअड्डे पर उतरे हवाईअड्डे पर तैनात कनाडा की सीमा एजेंसी ने कनाडा में प्रवेश करने से रोक दिया.

उन्होंने बताया, ‘मैंने उन्हें बताया कि मैं भारतीय पुलिस, सीआरपीएफ का एक सेवानिवृत्त भारतीय अधिकारी हूं, लेकिन उन्होंने मेरी एक सुनी नहीं और मुझसे बहुत ही बुरी तरीके से बात की. उन्होंने मुझे कहा कि मेरा बल मानवाधिकार उल्लंघनों में संलिप्त है’.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल जैसे एक प्रतिष्ठित बल के इस तरह के वर्णन को ‘पूरी तरह अस्वीकार्य’ बताया. बागले ने कहा, ‘मैंने ढिल्लन के बारे में खबरें देखी हैं, हम कनाडा सरकार के समक्ष यह मामला ले गए हैं.’

इस बारें कनाडा के उच्चायुक्त का भी बयान सामने आया है उन्होंने कहा, ‘सीआरपीएफ बल भारत में कानून व्यवस्था कायम रखने में एक अहम भूमिका निभाता है.’ इसके साथ ही उन्होंने ढिल्लन के साथ हुई घटना के प्रति खेद व्यक्त किया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE