15 साल की उम्र में अमरीकी सेना द्वारा अफ़ग़ानिस्तान से आतंक के आरोप में गिरफ्तार किये गए उमर ख़ज़र को आरोप साबित न होने पर 10 साल ग्वांतानामो जेल में रखने के बाद रिहा कर दिया गया. उमर के साथ हुए इस अत्याचार के लिए न केवल कनाडा सरकार ने उसे माफ़ी मांगी बल्कि उसे हर्जाना भी दिया.

कनाडा में जन्मे ख़ज़र पर सैन्य आयोग द्वारा युद्ध अपराधों का आरोप लगाया गया था. हालांकि बेकसूर साबित होने पर कनाडा सर्वोच्च न्यायालय के 2010 के आदेश के आधार पर इस बात पर सहमति बनी कि कनाडाई अधिकारियों ने ग्वांतानामो में ख़ज़र के अधिकारों का उल्लंघन किया.

और पढ़े -   बांग्लादेश की पीएम शैख़ हसीना को मारने की कोशिश में 10 लोगों को मौत की सज़ा

इसके बाद कनाडा की और से एक माफीनामा जारी कर कहा कि ‘कनाडा की सरकार की ओर से हम माफी मांगना चाहते हैं ख़ज़र से, उन्हें विदेश में हुई कठिनाइयों के लिए जिनमें कनाडाई अधिकारियों की कोई भी भूमिका रही हो और उन्हें जो भी नुकसान पहुंचा हो.”

ऐसे में कनाडा सरकार ने उमर के मामले में मानवाधिकारों का उल्लंघन को मानते हुए 81 लाख डॉलर का हर्जाना भी अदा किया.

और पढ़े -   लंदन: मस्जिद में बना विश्व का सबसे बड़ा समोसा, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में हुआ दर्ज

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE