इस्लामी सहयोग संगठन (ओआईसी) की इस्लामफोबिया पर रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि दुनिया के कुछ हिस्सों में इस्लाम और मुसलमानों के खिलाफ लगातार नफरत बढ़ रही है.

ओआईसी के महासचिव यूसेफ अल-ओथेमीन ने अबीजान में विदेश मंत्री सम्मेलन की 44 वीं परिषद में सोमवार को ये रिपोर्ट पेश की. जिसमे कहा गया कि मुसलमानों को न केवल आतंकित किया जा रहा है. बल्कि इस्लामी पवित्र प्रतीकों का अपमान किया जा रहा है. इसके अलावा इस्लामी पोशाक को निशाना बनाया जा रहा, हिजाब के साथ महिलाएं सड़कों और सार्वजनिक स्थानों पर दुर्व्यवहार हो रहा है.

और पढ़े -   रियाद में जी-20 बैठक के आयोजन के विरोध में आया फ्रांस

यहाँ तक कि कुछ सरकारों ने तो इस्लामिक पोशाको प्रतिबंधित कर दिया है. दक्षिणपंथी नेता मीडिया के जरिए मुस्लिमों के खिलाफ नफरत फैला रहे है.

अल-ओथैमीन ने जोर दिया कि ओईसी इस्लामोफोबिया से मुकाबला करने के लिए राजनीतिक, राजनयिक और परिचालन स्तरों पर सक्रिय हुआ है ताकि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इस्लामोफोबिया के खतरों के प्रति जागरूकता किया जा सके. उन्होंने कहा कि इस्लामोफोबिया वैश्विक शांति और सुरक्षा के लिए खतरा बन गया है.

और पढ़े -   ईरानी राष्ट्रपति ने दी परमाणु कार्यक्रम को फिर से शुरू करने की धमकी

उन्होंने चिंता जताते हुआ कहा कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ ओआईसी के सदस्य राज्यों को इस्लामोफोबिया की मौजूदा चुनौतियों का समाधान करने के लिए और अधिक गंभीर कार्रवाई करने की आवश्यकता है. ऐसे में किसी कानून को लागू किया जाना चाहिए जो दुश्मनी या हिंसा को रोकता है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE