लन्दन | ब्रिटेन में होने वाले चुनावो के मद्देनजर सभी पार्टी चुनाव प्रचार में लग गयी है. इसके अलावा ज्यादातर पार्टियों ने अपने मैनिफेस्टो भी जारी कर दिए है. इनमे से यूके इंडिपेंडेंस पार्टी (UKIP) ने अपने मैनिफेस्टो में बेहद ही रोचक और अजीब वादे किये है. पार्टी के मैनिफेस्टो में कहा गया है की बुर्के की वजह से मुस्लिम महिलाओं को विटामिन डी नही मिल पाता है इसलिए पर रोक लगाई जाएगी.

अपने मैनिफेस्टो में UKIP ने बुर्के पर बैन लगाने के और भी कारण बताये. उन्होंने बुर्के को राष्ट्र की सुरक्षा के लिए भी खतरा बताया. इसके अलावा बुर्के को अमानवीय और उत्पीडन के प्रतीक की संज्ञा दी गयी. मैनिफेस्टो में कहा गया की ऐसा कपडा जो पहचान छुपाता हो, बातचीत में बाधा बनता हो, रोजगार के अवसर सिमित करता हो, घरेलु हिंसा के सबूत छिपाता हो और सूरज से मिलने वाले विटामिन डी को शरीर में जाने से रोकता हो, वह आजादी नही है.

और पढ़े -   क़तर संकट को लेकर सेनेगाल ने मानी गलती, अपने राजदूत को वापस क़तर भेजा

पॉल नटल की लीडरशिप में चुनाव लड़ रही UKIP ने बुर्के पर बैन लगाने का वादा करते हुए कहा की हम इस अमानवीय बुर्के और चेहरे को पूरी तरह ढकने पर प्रतिबंध लगायेंगे. हम चाहते है की सभी महिलाओ को समान अवसर मिले और वो काम की जगह पर खुद को पूरी तरह शामिल कर सके. इसलिए हम ऐसे अमानवीय, उत्पीडन और अलगाव के प्रतीक को स्वीकार नही कर सकते.

और पढ़े -   कत्तरी हाजियों का पहला जत्था पहुंचा सऊदी अरब

घोषणा पत्र में आगे कहा गया की हम बुर्के की वजह से देश की सुरक्षा पर मंडरा रहे खतरे को भी स्वीकार नही कर सकते. इसलिए बुर्के पर प्रतिबंध लगाया जायेगा. इसके अलावा माइग्रेशन के समय भी केवल सोशल एपटीट्युड टेस्ट को पास करने वाले ही ब्रिटेन में प्रवेश पा सकेंगे. हम ऐसे लोगो को देश में घुसने नही देंगे जो समलैंगिक और महिलाओ को दुसरे दर्जे का नागरिक मानते हो.

और पढ़े -   गाजा पट्टी की बिजली आपूर्ति और रफा क्रॉसिंग की दुबारा खुलने की संभावना

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE