olapyc

इतिहास में पहली बार ओलंपिक मशाल ने मस्जिद में प्रवेश किया है. ये ऐतिहासिक प्रवेश ब्राजील के शहर “फ़ोज़ दो इगवासो”  की सबसे प्रसिद्ध मस्जिद “उमर बिन ख़त्ताब” में हुआ. ब्राजील के मुसलमानों ने इस दोरान ओलंपिक मशाल का स्वागत किया.

कई शहरों की यात्रा पर चले मशाल को एडवर्ड लीमा नामक ब्राजीली ने थामा हुआ था. जब वह मस्जिद के सामने से गुजरा तो वह मस्जिद के दरवाजे के सामने खड़ा हो गया. इस दोरान एडवर्ड लीमा ने मशाल सहित मस्जिद में प्रवेश किया. फवज़ दो इगवासो” शहर की 20 हजार से ज्यादा आबादी विदेशी और अंतरजातीय अरबों की हैं जिनमें अधिकतर लेबनान के है.

और पढ़े -   रोहिंग्याओं के नरसंहार को रोकना है तो म्यांमार पर लगे कड़े प्रतिबंध: ह्यूमन राइट्स वॉच

गौरतलब रहे कि ओलंपिक मशाल 5 मई को ब्राजील पहुंची थी और देश के प्रमुख शहरों में इसकी अपनी यात्रा पर हैं. यात्रा के अंत में यह मशाल रयूडी जनेरियो शहर पहुंचेगी जहां महीने की 18 तारीख को ओलंपिक खेलों का उद्घाटन होगा.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE