bilal

फ़िलिस्तीनी क़ैदियों के मामलों की एक कमेटी के प्रमुख ईसा क़राक़े ने चेतावनी देते हुए कहा है कि ज़ायोनी शासन की क़ैद में पिछले 50 दिन से भूख हड़ताल पर बैठे बिलाल कायद की स्थिति अत्यंत चिंताजनक है और उनकी किसी भी समय मौत हो सकती है।

क़राक़े के अनुसार, डॉक्टरों ने चेतावनी दी है कि भूख हड़ताल के कारण कायद इतने कमज़ोर हो चुके हैं कि उन्हें मस्तिष्क रक्तस्राव की समस्या से जूझना पड़ सकता है या उन्हें दिल का दौरा पड़ सकता है। ईसा क़राक़े ने फ़िलिस्तीनियों से मांग की है कि इस्राईली जेलों में बंद भूख हड़ताल करन वाले और ज़ायोनी सैनिकों की यातनाएं सहन करने वाले फ़िलिस्तीनी क़ैदियों का समर्थन करें।

इस बीच, इस्राईली जेलों में बिलाल कायद के समर्थन में भूख हड़ताल करने वाले फ़िलिस्तीनी क़ैदियों की संख्या में वृद्धि हुई है। उल्लेखनीय है कि 14 वर्ष क़ैद की सज़ा पूरे होने के बाद भी आरोप पत्र दाख़िल किए बिना या मुक़दमा चलाए बिना 6 महीने की अधिक क़ैद की सज़ा के ख़िलाफ़ बिलाल कायद ने भूख हड़ताल शुरू कर रखी है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें