नई दिल्ली : अमेरिका की रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी राष्ट्रपति और पूर्व सेक्रेटरी ऑफ स्टेट हिलेरी क्लिंटन पर गंभीर आरोप लगाया है। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि इन दोनों की नीतियों की वजह से आतंकी संगठन आईएस का निर्माण हुआ।

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, हालांकि ट्रंप ने कैंपेन स्टॉप के लिए बाइलॉक्सी, मिसिसिपी में बोलते हुए कभी अपने दावे के लिए कोई सबूत नहीं दिया। अपने बयान में उन्होंने यह भी कहा कि ईरान और सऊदी अरब के बीच बढ़ते तनाव से साफ लगता है कि इस्लामिक रिपब्लिक अमेरिका के मध्यपूर्व में सहयोगी पर हमेशा से कब्जा करना चाहता था।

और पढ़े -   अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने दी ईद की मुबारकबाद, कहा - करुणा, कृपा और सद्भावना का है दिन

शनिवार को ट्रंप ने कहा, ”उन्होंने आईएस का निर्माण किया है। हिलेरी क्लिंटन ने ओबामा के साथ आईएस बनाया है।”रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप का यह बयान तेहरान में सऊदी दूतावास के बाहर ईरानियों के विरोध पर विस्तृत चर्चा के बाद आया है। यह विरोध सऊदी अरब में 47 लोगों की हत्या के विरोध में हो रही है जिसमें एक शिया धार्मिक गुरु की भी हत्या कर दी गई।

और पढ़े -   कठिन परिस्थितियों में भी नहीं छोड़ा फिलिस्तीन का साथ, मुसलमानों में फैलाए जा रहे मतभेद: सीरिया

ट्रंप ने कहा, ”तेहरान में वे सऊदी दूतावास को जला रहे हैं। आप ये देखिए ये क्या है.. ईरान, सऊदी अरब के दूतावास पर कब्जा करना चाहता है। वे हमेशा चाहते हैं वे तेल चाहते हैं। ये ठीक है? वे हमेशा से यह चाहते हैं।” गौरतलब है, जब भी मध्य पूर्व में अशांति का सवाल आता है। ट्रंप डैमोक्रैट्स और पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश पर निशाना साधते रहे हैं। खासकर, बुश के ईराक में साल 2003 में कब्जा करने के फैसले को लेकर।” साभार: न्यूज़ 24

और पढ़े -   तुर्की ने भी सऊदी अरब की क़तर में सैन्य अड्डे को बंद करने की मांग को किया खारिज

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE