trump defeatedअमेरिकी राष्‍ट्रपति  पद के लिए रिपब्लिकन उम्‍मीदवार डॉनल्‍ड ट्रंप ने एक बार फिर मुसलमानों के खिलाफ बयान देते हुए कहा कि अगर आतंकवाद पर काबू पाना है तो मस्जिदों पर निगरानी रखनी होगी और मुसलमानों के अमेरिका में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाना होगा।

ऑरलैंडो हमले के बाद अटलांटा में एक रैली को सबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा कि हमें सम्‍मानपूर्वक, मस्जिदों की जांच करनी होगी, हमें अन्‍य जगहों की जांच करनी होगी क्‍योंकि यह एक ऐसी समस्‍या है जिसका हमने समाधान नहीं किया तो यह हमारे देश को जिंदा निगल जायेगी। ट्रंप ने ऑरलैंडो हमले के जिम्मेदार उमर मतीन का हवाला देते हुए कहा, फ्लोरिडा में गोलीबारी करने वाले मतीन का जन्‍म भले ही अमेरिका में हुआ था, लेकिन उसके पैरंट्स और उसके आइडियाज का जन्‍म यहां नहीं हुआ था।

और पढ़े -   काबा शरीफ पर आत्मघाती हमले की कोशिश नाकाम, एक सैनिक समेत 9 लोगों की मौत

गोरतलब रहें कि मुसलमानों के खिलाफ बयानों को लेकर अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने ट्रंप की जमकर आलोचना करते हुए कहा था कि ट्रंप के इस तरह के बयान अमेरिका के लिए काफी घातक हैं।

ट्रंप के बयान पर काउंसल ऑन अमेरिकन-इस्‍लामिक रिलेशन्‍स के कम्‍युनिकेशन्‍स डायरेक्‍टर इब्राहिम हूपर ने कहा कि अमेरिकी मस्जिदों में किसी तरह के चरमपंथ या हिंसा का पाठ नहीं पढ़ाया जाता।

और पढ़े -   अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने दी ईद की मुबारकबाद, कहा - करुणा, कृपा और सद्भावना का है दिन

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE