ढाका: 1971 के युद्ध अपराधों के मुकदमों और ‘आतंकवाद से कथित तौर पर जुड़ी’ राजनयिक को ढाका से बुला लेने के पाकिस्तान के फैसले से दोनों देशों में उपजे राजनयिक तनाव के बीच बांग्लादेश ने पाकिस्तान से अपने उच्चायुक्त को वापस बुला लिया है।

तनाव बढ़ा, बांग्लादेश ने पाकिस्तान से अपना दूत वापस बुलाया

विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने पहचान उजागर न करने की शर्त पर बताया, हां, उच्चायुक्त से जल्द से जल्द देश वापस आने के लिए कहा गया है। हालांकि अधिकारी ने कहा कि उच्चायुक्त सोहराब हुसैन का अनुबंध पूरा होने वाला है।

पेशे से राजनयिक और आजादी की लड़ाई के एक योद्धा हुसैन को सेवानिवृत्ति के बाद पहली बार वर्ष 2010 में अनुबंध के आधार पर पाकिस्तान में बांग्लादेश का दूत नियुक्त किया गया था। उनका कार्यकाल दो साल का था, जिसे दो बार लगातार विस्तार दिया गया।

ढाका की ओर से अपने दूत का वापस बुलाने का यह कदम एक ऐसे समय पर उठाया गया है, जब एक ही सप्ताह पहले इस्लामाबाद ने ढाका में तैनात अपनी महिला राजनयिक को वापस बुला लिया था। इस महिला राजनयिक के इस्लामी आतंकियों से संदिग्ध रिश्तों को लेकर हंगामा खड़ा हो गया था। इससे लगभग 12 माह पहले बांग्लादेश ने एक अन्य पाकिस्तानी को ऐसे ही आरोपों में निष्कासित कर दिया था। साभार: ndtv.com


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें