bahr

खाड़ी देश बहरीन के जानेमाने शिया धर्मगुरू शेख ईसा क़ासिम की नागरिकता रद्द कर दी गई है. बहरीन सुन्नी बहुल देश है. बहरैनी समाचार एजेंसी ने सोमवार को इस देश के गृह मंत्रालय के हवाले से शैख़ ईसा क़ासिम की नागरिकता के रद्द होने की पुष्टि की है.

गृह मंत्रालय ने बयान जारी करते हुए शेख ईसा कासिम पर ‘विदेशी हितों को साधने’ और ‘सांप्रदायिकता और हिंसा को बढ़ावा देने’ के लिए अपने पद के इस्तेमाल का आरोप लगाया. बहरीन की गुप्तचर सेवा ने पिछले हफ़्ते भी बहरैन के 8 धर्मगुरुओं को पूछताछ के लिए तलब किया था. बहरैनी शासन ने शिया धर्मगुरु को तलब करने के कारण का उल्लेख नहीं किया.

और पढ़े -   900 ट्रक हथियार भेजकर सीरिया में अमेरिका कर रहा कुर्दों की मदद: तुर्की

बहरीन अधिकारियों के अनुसार वफ़क़ नेशनल इस्लामिक सोसायटी को भी बंद कर दिया गया है और इसकी संपत्ति जब्त कर ली गई है. वफ़क़ के राजनीतिक नेता, शिया मौलवी शेख़ अली सलमान जेल में हैं और हाल ही में उनकी सजा बढ़ाकर नौ साल कर दी गई है. उन्हें 2015 में घृणा फैलाने और अवज्ञा, तथा सरकारी संस्थानों का अपमान करने का दोषी पाया गया था.

और पढ़े -   उत्तरी कोरिया ने की अब कोई नादानी तो होगी सिर्फ सैन्य कार्रवाई: डोनाल्ड ट्रंप

विकिलीक्स की ओर से प्रकाशित किए गए अमरीकी डिप्लोमेटिक केबल में शेख ईसा क़ासिम को वफ़क़ का अध्यात्मिक नेता बताया गया है. ईसा कासिम को अयातुल्ला का धार्मिक दर्जा प्राप्त है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE