वॉशिंगटन  पठानकोट एयरबेस पर आतंकवादी हमले की अमेरिका ने भी निंदा की है। अमेरिका ने पाकिस्तान सीमा के नजदीक हुए इस हमले को नृशंस करार दिया है। इसके साथ ही अमेरिका ने भारत और पाकिस्तान को आतंकवाद से साथ मिलकर निपटने की सलाह भी दी। शनिवार तड़के हुए इस हमले में सुरक्षाबलों के तीन जवान शहीद हो गए थे। सुरक्षा बलों ने आतंकियों से मुठभेड़ में सभी पांच उग्रवादियों को भी ढेर कर दिया था।

और पढ़े -   अमेरिका ने जारी हिंसा के बीच दी रोहिंग्‍या मुस्लिमों के लिए 3.2 अरब डॉलर की मदद

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा, ‘आतंकवाद से निपटने के प्रति अमेरिका भारत के साथ साझेदारी के लिए प्रतिबद्ध है।’ किर्बी ने कहा, ‘हम क्षेत्र के सभी देशों से आग्रह करते हैं कि वह आतंकियों और उनके नेटवर्क को नेस्तनाबूद करने के लिए साथ मिलकर काम करें। ताकि इस तरह की जघन्य घटना करने वालों से निपटा जा सके।’

और पढ़े -   रोहिंग्याओं पर अत्याचार के विरोध में ब्रिटेन संघ ने सू से छिना पुरस्कार

गौरतलब है कि भारतीय खुफिया एजेंसियों ने पठानकोट हमले की साजिश पाकिस्तान में रचे जाने का शक जताया है। पाकिस्तान का कहना है कि वह आतंकवाद के मसले पर भारत की हरसंभव मदद करने की तैयार है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि हम आतंकवाद से निपटने को प्रतिबद्ध हैं। साभार: नवभारत टाइम्स


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE