bangladesh blogger murder

बांग्लादेश में धर्मनिरपेक्ष विचारों को फ़ेसबुक पर ज़ाहिर करने वाले कानून के एक छात्र की हत्या कर दी गई है.

पुलिस के अनुसार बुधवार देर रात निज़ामुद्दीन समाद जब एक ट्रैफिक चौराहे पर रुके हुए थे, तभी उन्हें पहले चाकू मारा गया और फिर उन पर गोलियां चलाई गईं.

28 साल के समाद धर्मनिरपेक्ष विचारों का प्रचार करने वाले समूह ‘गणजागरण मंच’ के संयोजक बताए जाते हैं.

और पढ़े -   यमन युद्ध में मरने वाले 50 प्रतिशत बच्चे सऊदी हमलों में मरे: सयुंक्त राष्ट्र

पिछले साल भी धार्मिक कट्टरवादियों ने कई महत्वपूर्ण धर्मनिरपेक्ष ब्लॉगरों को अपना निशाना बनाया था.

बांग्लादेश आधिकारिक रूप से धर्मनिरपेक्ष देश है लेकिन आलोचकों का मानना है कि सरकार इन हमलों से निपटने में नाकाम रही है.


निज़ामुद्दीन समाद जगन्नाथ यूनिवर्सिटी के छात्र थे और अपने फेसबुक पेज पर धार्मिक कट्टरवाद के खिलाफ लगातार लिखते रहे थे. उन्होंने धर्म के बारे में लिखा था, “मेरा कोई धर्म नहीं है.”

और पढ़े -   कत्तरी हाजियों का पहला जत्था पहुंचा सऊदी अरब

हाल के महीने में धर्मनिरपेक्षता के पक्ष में लिखने वालों पर कई जानलेवा हमले किए गए हैं. हालांकि अब तक हमले के दोषियों का कोई सुराग नहीं मिला.

अब तक चार प्रमुख धर्मनिरपेक्ष ब्लॉगरों की हत्या हुई है. उनके नाम उस 84 नामों वाली सूची में थे जिसे 2013 में एक इस्लामिक ग्रुप ने जारी किया था.


बांग्लादेश में पहले भी शिया, सूफी और अहमदी मुसलमान, ईसाई और हिंदुओ जैसे अल्पसंख्यकों पर हमले हुए हैं.

और पढ़े -   फिलिस्तीनियों के लिए स्वीडिश नागरिक ने शुरू की 4,800 किमी की पैदल यात्रा

पिछले ही साल इटली के एड वर्कर और एक जापानी शख्स को गोली मार दी गई थी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE