पाकिस्तान उलेमा काउंसिल के चेयरमैन ने आतंकवाद के खिलाफ अमेरिका की लड़ाई को एक दिखावा करार दिया है. उन्होंने कहा कि अमेरीका आतंकवाद के बहाने इस्लाम और मुसलमानों के विरुद्ध जंग लड़ रहा है।

राजधानी इस्लामाबाद में मौलाना फ़ज़लुर्रहमान ने कहा कि इस्लामी देशों को समझना चाहिए कि अमरीका का लक्ष्य इस्लाम और इस्लामी देशों को बदनाम करना और उनको नुकसान पहुँचाना है आतकंवाद को नहीं।

और पढ़े -   सांप्रदायिकता वैमनस्य पालने के बजाय अच्छी शिक्षा देने पर ध्यान दे भारत: नोबेल विजेता रामाकृष्णन

पाकिस्तान उलेमा काउंसिल के चेयरमैन ने कहा सऊदी अरब को अमरीका से संबंध तोड़ लेने चाहिए और इस्लामी दुनिया के साथ संबंध बढ़ाने चाहिए, क्योंकि अमरीका रियाद का दोस्त नहीं है।

उन्होंने कहा कि अमरीका की नज़र में केवल मुसलमान आतकंवादी संगठनों के सदस्य हैं और यही कारण है कि युद्ध और संघर्ष केवल इस्लामी देशों में पैदा होता है क्योंकि वाशिगटन ने कुछ इस्लामी देशों के लीडरों को इस संबंध में विभिन्न प्रकार से धोखे में रखा है।

और पढ़े -   सऊदी विदेश मंत्री ने कहा - क़तर संकट का हल सिर्फ दोहा के हाथ में

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE