sikh

रविवार शाम को अफगानिस्तान की राष्ट्रीय एकता सरकार (NUG) ने सिखों और हिंदुओं के लिए अफगान संसद में एक सीट के आरक्षण  को मंजूरी दे दी.

राष्ट्रपति द्वारा इस प्रस्ताव को अनुमति प्राप्त होनी हैं, ताकि अफगानिस्तान के प्रमुख अल्पसंख्यक समूह देश की संसद में प्रतिनिधित्व भेज सके. यह फैसला ऐसे समय में लिया गया हैं जब अल्पसंख्यक समुदाय अफगान के विकास में भागीदारी निभान चाहता हैं.

और पढ़े -   चीन की धमकी - भारत में घुस गई हमारी सेना तो मच जाएगा कोहराम

इससे पहले हामिद करज़ई की सरकार ने अल्पसंख्यक हिन्दू और सिख समुदाय को आरक्षण देने के लिए संसद में प्रस्ताव पेश किया था. लेकिन उस समय ये प्रस्ताव पारित नहीं हो पाया था.

अफगान सिखों और हिंदुओं की तादाद का एक बड़ा हिस्सा काबुल में रहता हैं. इसके अलावा नांगरहार और गजनी प्रांतों बड़ी संख्या में भी ये लोग रहते हैं.

और पढ़े -   25 साल बाद फिर से कुवैत में अपनी सेवाएं देंगे फिलिस्तीनी शिक्षक

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE