नई दिल्ली | म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमो के खिलाफ हो रही हिंसा रुकने का नाम नही ले रही है. अन्तराष्ट्रीय और मानवाधिकार संगठनों के दबाव के बावजूद सुरक्षाबल लगातार रोहिंग्या मुस्लिमो को निशाने पर ले रहे है. व्यस्को और बच्चो को गोली मारी जा रही है. रोहिंग्या मुस्लिमो के घरो को तोडा जा रहा है , उनमे आग लगायी जा रही है. इसलिए म्यांमार में रह रहे रोहिंग्या मुस्लिम बांग्लादेश या भारत की तरफ पलायन क्र रहे है.

ताजा घटनाक्रम में शुक्रवार को रोहिंग्या मुस्लिमो के 8 गाँव जलकर ख़ाक हो गए. ये वो गाँव थे जहाँ बड़ी संख्या में रोहिंग्या मुस्लिमो ने अपनी जान बचाने के लिए शरण ली हुई थी. इनके साथ साथ यहाँ रखाईन बोद्ध भी इन गाँव में रह रहे थे. हालाँकि अभी तक यह जानकारी नही मिली है की आगजनी की यह घटना किसने अंजाम दी है. प्र्त्याक्ष्दार्शियो के अनुसार आगजनी की यह घटना राथेडांग कस्बे में हुई है.

प्र्त्यक्ष्दार्शियो का कहना है की इस आगजनी में शर्णार्थियो के शिविर भी जल गए. इस तरह बड़ी संख्या में गाँवों को आग के हवाले करने के बाद रोहिंग्या मुस्लिमो की बड़ी आबादी बांग्लादेश की और रुख कर सकती है. एक आंकड़े के अनुसार पिछले दो हफ्तों में करीब ढाई लोग रोहिंग्या मुस्लिम , म्यांमार से पलायन कर चुके है. लेकिन राथेडांग का इलाका बांग्लादेश से काफी दूरी पर है इसलिए आशंका यह भी जताई जा रही है की बड़ी संख्या में मुस्लिम इस क्षेत्र में फंस सकते है.

हालाँकि बताया जा रहा है की काफी बड़ी संख्या में लोग या तो जंगल में शरण ले रहे है या फिर दिनभर पैदल चलने के बाद मोंगडॉ क्षेत्र या पश्चिम में उससे भी आगे नफ नदी की ओर जा रहे हैं. नफ़ नदी म्यांमार को बांग्लादेश से अलग करती है. मालूम हो की म्यांमार में कट्टर बोद्ध और कट्टर रोहिंग्या मुस्लिमो के बीच लम्बे समय से हिंसक झड़प चल रही है. जिसमे काफी निर्दोष लोग मारे जा चुके है. बताया जा रहा है की सुरक्षाबलो ने रोहिंग्या मुस्लिमो के खिलाफ अभियान चलाया हुआ है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE