संयुक्त राष्ट्र के बच्चों को राहत संस्था ने घोषणा की है कि यमन के पैंतालिस लाख से अधिक बच्चे स्कूल नहीं जा सकते हैं।

इस संस्था ने घोषणा की है कि: नए शैक्षणिक वर्ष की शुरुआत से पैंतालिस लाख बच्चे स्कूल नहीं जा सकते हैं।

इसका कारण यमन पर हमलों में स्कूलों का नष्ट हो जाना और टीचरों के वेतन भुगतान न किया जाना है।

और पढ़े -   अमेरिकी कांग्रेस: भारत और चीन में होगा युद्ध, अमेरिका के भारत से मजबूत होंगे सामरिक संबंध

कहा जा रहा है कि अगस्त 2016 से अब तक शिक्षकों के वेतन भुगतान नहीं किया गया है।

यमन में स्कूल सितंबर की शुरुआत से अपना शौक्षिक सत्र शुरू करते हैं पर कुछ क्षेत्रों में युद्ध की वजह से स्कूलों को नहीं खोला जाएगा।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE