प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी.

तेहरान. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दो दिवसीय ईरानी दौरे के आखिरी दिन राष्ट्रपति हसन रूहानी से मुलाकात की। इस मुलाकात में दोनों देशों के बीच 12 प्रमुख समझौतों पर सहमति बनी है। जिसमें चाबहार पोर्ट का महत्वपूर्ण समझौता भी शामिल है। इनमें सांस्कृतिक सहयोग बढ़ाने, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, सांस्कृतिक आदान-प्रदान, चाबहार बंदरगाह के विकास और संचालन और चाबहार-ज़ाहेडान के बीच रेलवे लाइन बिछाने संबंधी समझौते प्रमुख हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि चाबहार बंदरगाह और उससे जुड़ी बुनियादी संरचना के विकास के लिए जो समझौता हुआ है, वह मील का पत्थर है. उन्होंने कहा कि आतंकवाद, कट्टरपंथ, मादक पदार्थों की तस्करी और साइबर अपराध के ख़तरे से निपटने के लिए दोनों देश नियमित विचार-विमर्श पर सहमत हुए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि  दोनों देशों की दोस्ती उतनी ही पुरानी है जितना इतिहास. उन्होंने कहा कि एक दोस्त और पड़ोसी के रूप में दोनों देशों ने एक दूसरे से विकास और ख़ुशहाली को साझा किया है. मीडिया को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वो इस बात को नहीं भूल सकते हैं कि गुजरात में 2001 में भूकंप के बाद ईरान पहला देश था, जो मदद के लिए आगे आया था.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें