मुंबई,पर्दे पर एक्टिंग कर रहे सितारों के सीने में भी एक दिल होता है, जो सिर्फ नायक या नायिका के लिए ही नहीं सड़क किनारे अकेले पड़े बच्चे को देखकर भी धड़क जाता है। हमें लगता है कि सितारे बेहद शान के साथ जिंदगी जीते हैं। इसलिए उन्हें परेशानी उठाने का क्या पता? लेकिन सब ऐसे नहीं होते। बॉलीवुड के कई जाने-माने सितारों ने ना सिर्फ ऐसी नन्हीं जानों को पाला है, जिन्हें मरने के लिए सड़क किनारे छोड़ दिया गया था, बल्कि वो सब किया जो एक मां अपने कोख से जन्में बच्चे के लिए करती है।

bacche

विश्व सुंदरी सुष्मिता सेन की जिंदगी में कई रोमांस रहे, कई अफेसर रहे उनकी जिंदगी में कई मर्द आए और चले गए। लेकिन उनकी जिंदगी में दो छोटी-छोटी परियां आईं तो अपनी सारी व्यस्तताओं को पीछे कर सुष ने इनको ही अपनी जिंदगी बना लिया। सुष्मिता सेन ने रेने और अलीशा नाम की दो बेटियां गोद ली हैं। सुष्मिता कई मौकों पर कह चुकी हैं कि उन्हें अपनी बेटियों के साथ इतनी खुशी मिलती है कि शादी करने की जरूरत ही नहीं लगती। अभिनेत्री का फिल्मों से दूरी की बड़ी वजह भी उनका अपनी बच्चियों को समय देना है।

 

मिथुन चक्रवर्ती के चार बच्चे हैं। दो बेटियां और दो बेटे। लेकिन आपको जानकर हैरत होगी कि उनकी छोटी बेटी इशानी उनको एक कूड़े के ढेर पर मिली थी। पर्दे पर कई गुंडो को धूल चटाने वाले मिथुन ने जब एक दूध-पीती बच्ची की आवाज सुनी तो उनका दिल भर आया और वो उसे घर ले आए। मिथुन इशानी को बिलकुल उसी तरह रखते हैं। जैसे उनके दूसरे बच्चे।

 

किसी को जिंदगी देने के लिए कोई अपना सबकुछ दांव पर लगा सकता है? वो भी तब जब वो उसका कुछ भी ना लगता हो। रवीना टंडन के बारे में जानकर आप कहेंगे कि हां कुछ लोग ऐसे भी होते हैं। जिस उम्र में हीरोइन के दिमाग में सिर्फ और सिर्फ करियर होता है। उस उम्र में रवीना टंडन ने दो बेटियां गोद लीं और उनको बेहतर जिंदगी देने की ठान ली। उस वक्त रवीना टंडन की उम्र 21 साल की थी, जब उन्होंने पूजा और छाया को गोद लिया और उन्हें पाला-पोसा।

 

सलमान की बहन अर्पिता आज जाना-पहचाना चेहरा हैं। लेकिन सलमान की चहेती अर्पिता सलीम खान की बेटी नहीं, उसको उन्होंने गोद लिया। आज अर्पिता खान परिवार की जान हैं। हिन्दू लड़की को मुस्लिम परिवार में इतने प्यार का ऐसा उदाहरण भारत में ही मुमकिन है। यहां तक कि सलमान की बहन अलवीरा उनके साथ कम दिखती हैं और अर्पिता ज्यादा।

 

‘कुछ-कुछ होता है’ और ‘कल हो ना हो’ जैसी फिल्म दे चुके निर्देशक निखिल अडवाणी ने बेटी काया को गोद लिया। उस समय काया चार साल की थी।

 

और पढ़े -   IFFM मेलबर्न में तिरंगा फहराने वाली पहली भारतीय महिला होंगी ऐश्वर्या

साभार अमर उजाला

 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE