toi

अक्षय कुमार की फिल्म “टॉयलेट एक प्रेम कथा” को लेकर मथुरा में कड़ा विरोध हो रहा हैं. अक्षय और उनकी टीम पर 5000 साल पुरानी पंरपरा को तोड़ने का आरोप लगा हैं. इसके लिए फिल्म के डायरेक्टर की जुबान काटने पर 1 करोड़ का इनाम भी रखा गया हैं.

सोमवार को हुई एक महापंचायत में डायरेक्टर नारायण सिंह की जुबान काटने पर 1 करोड़ का इनाम रखते हुए कहा कि नंदगांव और बरसाना गांव के लड़का-लड़की आपस में शादी नहीं कर सकते लेकिन फिल्म में ऐसा दिखाकर सालों से चली आ रही इन गांव को परंपरा को तोड़ा गया है.

और पढ़े -   सेंसर बोर्ड चीफ की गद्दी छिनते ही सरकार पर बिफरे पहलाज निहलानी कहा, अब पोर्न परोसने की मिलेगी खुली छूट

पुजारियों के मुताबिक नंद गांव के हर लड़के को कृष्ण के सखा और बरसाना की हर लड़की को राधा के रूप में माना जाता है. इसलिए फिल्म में लड़का और लड़की के रूप में शादी करवाने को दोनों गांव के लोग गलत मानते हैं. लोगों का दावा है कि इस पंरपरा को हिंदू ही नहीं, बल्कि मुस्लिम समाज के लोग भी मानते हैं.

और पढ़े -   सेंसर बोर्ड से हुई पहलाज निहलानी की छुट्टी, प्रसून जोशी को बनाया गया CBFC चीफ

बरसाना पंचायत के 20 प्रधानों ने शादी के इस दृश्य के खिलाफ याचिका भी दायर की जिसमे कहा गया कि यह उनकी परंपरा के खिलाफ है, क्योंकि लंबे समय से दोनों गांवों के बीच शादी ना करने का रिवाज है. दरअसल इनमें से एक गांव भगवान कृष्ण और दूसरा राधा का है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE