toi

अक्षय कुमार की फिल्म “टॉयलेट एक प्रेम कथा” को लेकर मथुरा में कड़ा विरोध हो रहा हैं. अक्षय और उनकी टीम पर 5000 साल पुरानी पंरपरा को तोड़ने का आरोप लगा हैं. इसके लिए फिल्म के डायरेक्टर की जुबान काटने पर 1 करोड़ का इनाम भी रखा गया हैं.

सोमवार को हुई एक महापंचायत में डायरेक्टर नारायण सिंह की जुबान काटने पर 1 करोड़ का इनाम रखते हुए कहा कि नंदगांव और बरसाना गांव के लड़का-लड़की आपस में शादी नहीं कर सकते लेकिन फिल्म में ऐसा दिखाकर सालों से चली आ रही इन गांव को परंपरा को तोड़ा गया है.

पुजारियों के मुताबिक नंद गांव के हर लड़के को कृष्ण के सखा और बरसाना की हर लड़की को राधा के रूप में माना जाता है. इसलिए फिल्म में लड़का और लड़की के रूप में शादी करवाने को दोनों गांव के लोग गलत मानते हैं. लोगों का दावा है कि इस पंरपरा को हिंदू ही नहीं, बल्कि मुस्लिम समाज के लोग भी मानते हैं.

बरसाना पंचायत के 20 प्रधानों ने शादी के इस दृश्य के खिलाफ याचिका भी दायर की जिसमे कहा गया कि यह उनकी परंपरा के खिलाफ है, क्योंकि लंबे समय से दोनों गांवों के बीच शादी ना करने का रिवाज है. दरअसल इनमें से एक गांव भगवान कृष्ण और दूसरा राधा का है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें