amit

गुजरात के दलितों ने अब बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन को उनके गुजरात टूरिज़म के लिए किये गए विज्ञापन के जरिये निशाने पर लिया हैं. ऊना दलित अत्याचार लड़त समिति (UDALS) ने अमिताभ के  ‘खुशबू गुजरात की’ के बदले ‘बदबू गुजरात की’ अभियान चलाने का फैसला किया हैं.

UDALS के संयोजक जिग्नेश मेवानी के अनुसार  13 सितंबर को दलितों की एक पब्लिक मीटिंग होंगी जिसमे हजारों दलित परिवार अमिताभ बच्चन को पोस्टकार्ड्स के जरिये आमंत्रित करेंगे. जिसमे उन्हें लिखा जाएगा कि उन्हें गुजरात में कुछ दिन बिताकर ‘बदबू गुजरात की’ को भी महसूस करना चाहिए.’

और पढ़े -   शेहला राशिद को कालगर्ल बताने पर ट्विटर ने अभिजीत का अकाउंट किया सस्‍पेंड

गौरतलब रहें कि उना में भगवा संगठन के कार्यकर्ताओं के द्वारा कथित गौरक्षा के नाम पर दलित युवको के बेदर्दी से पिटाई की गई थी. जिसके बाद दलितों ने आंदोलन कर राज्य में मरे पशुओं के शव उठाने से इंकार कर दिया हैं.

इसी आन्दोलन की वजह से गुजरात में मरे पशुओं के निपटान की समस्या पैदा हो गई हैं.  इसकी वजह से कई जगहों पर लोगों को भयंकर बदबू का सामना करना पड़ रहा है.

और पढ़े -   बीसीसीआई ने इरफान पठान को बहरीन में टी-20 मैच खेलने से किया मना

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE