शत्रुघ्न ने बायोग्राफी में लिखा है, ‘फिल्मों में जो शोहरत अमिताभ बच्चन चाहते थे, वो मुझे मिल रही थी। इससे अमिताभ परेशान थे। इसके चलते मैंने कई फिल्में छोड़ दी और साइनिंग अमाउंट तक लौटा दिए।’

अमिताभ बच्चन ने शुक्रवार को शत्रुघ्न सिन्हा की बायोग्राफी ‘एनीथिंग बट खामोश’ को मुंबई में लॉन्‍च किया। इस मौके पर सोनाक्षी और पूनम सिन्‍हा भी मौजूद थीं। मीडिया से बात करते हुए शत्रुघ्‍न सिन्‍हा और अमिताभ बच्‍चन दोनों ने कुछ पुरानी यादें ताजा कीं। शॉट गन ने कहा, ‘मैं अभी थोड़ा सुधर गया हूं, लेकिन उतना नहीं, जितना अमिताभ सुधरे हुए हैं, शुरू से।’ उन्‍होंने अपनी लेट-लतीफी के बारे में बताया कि मनोज कुमार ने उन्‍हें कहा था, ‘ये शत्रुघ्‍न हैं, रामायण में इसे का राम बनके पैदा होना था, लेकिन लेट-लतीफी की वजह से शत्रुघ्‍न बनके पैदा हुआ।’

इस मौके पर अमिताभ भी पीछे नहीं रहे और उन्‍होंने भी एक किस्‍सा सुनाकर बताया कि शत्रुघ्‍न अटेंशन पाने के लिए कैसे-कैसे काम किया करते थे। आप खुद ही सुन लीजिए क्‍या कह रहे हैं अमिताभ

वैसे शत्रुघ्‍न सिन्‍हा और अमिताभ का नाम आते ही सिर्फ दोस्‍ती ही नहीं, वो दुश्‍मनी भी याद आती है, जो कि अखबार की सुर्खियों में रहा करती थी। शत्रुघ्‍न ने पिछले दिनों अपनी किताब का जिक्र करते हुए कई बार अमिताभ के साथ टकराव की बातें उजागर की थीं।

शत्रुघ्न ने बायोग्राफी में लिखा है, ‘फिल्मों में जो शोहरत अमिताभ बच्चन चाहते थे, वो मुझे मिल रही थी। इससे अमिताभ परेशान थे। इसके चलते मैंने कई फिल्में छोड़ दी और साइनिंग अमाउंट तक लौटा दिए।’ शॉटगन मानते हैं कि 70 के दशक में बॉलीबुड में उनका कद अमिताभ बच्चन से बड़ा था। इस कारण से ही उनकी दोस्ती में दरार पड़ी (Jansatta)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें