सुपरस्टार शाहरुख खान ने कहा है कि कोई भी फिल्म निर्माता इस उद्देश्य से सिनेमा नहीं बनाता कि लोग इससे गलत सीख लेंगे और यह दुखद है कि कई बार दर्शक फिल्म देखकर गलत चीजों से प्रभावित हो जाते हैं। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में एक अपहरण के सिलसिले में पुलिस ने दावा किया कि आरोपी शाहरुख खान की 1993 की फिल्म ‘डर’ से प्रभावित था जिसके बाद अभिनेता से इस बारे में पूछा गया था।

दीप्ति अपहरण मामले पर बोले शाहरुख, लोग फिल्मों से गलत सीख लेते हैं

शाहरुख ने कहा कि फिल्मी हस्तियों का प्रशंसकों पर शानदार प्रभाव पड़ता है। मेरा मानना है कि हमारा लोगों पर सकारात्मक ज्यादा और नकारात्मक कम असर पड़ता है। शाहरुख ने कहा कि हमारा काम उन पर उससे ज्यादा असर करता है जितना हम सोचते हैं। कोई भी फिल्म निर्माता लोगों पर नकारात्मक असर के लिए फिल्म नहीं बनाता। कई बार लोग गलत सीख ले लेते हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है।

इससे पहले शाहरुख खान को एक कार्यक्रम के दौरान दिल्ली यूनिवर्सिटी के हंसराज कॉलेज में भारी विरोध का सामना करना पड़ा। दरअसल शाहरुख खान को कॉलेज ने डिग्री देने के लिए बुलाया था। जैसे ही कॉलेज में कार्यक्रम शुरू हुआ वैसी ही छात्रों ने हंगामा शुरू कर दिया। हालांकि शाहरुख खान अपनी डिग्री हासिल करने में सफल रहे। (ibnlive)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE