भारत को 180 रनों से हराने कर चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम करने वाली पाकिस्तानी टीम के कप्तान सरफराज अहमद ने जीत का श्रेय अपने गेंदबाजों को दिया हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि पास खोने के लिए कुछ नहीं था, लिहाजा वे खुलकर खेले.

सरफराज ने कहा, ‘भारत से पहला मैच हारने के बाद मैंने अपनी टीम से कहा कि टूर्नामेंट अभी खत्म नहीं हुआ है. हम उस हार से उबरकर अच्छा खेले… खिताब अपने नाम किया.’ उन्होंने कहा, ‘इसका पूरा श्रेय गेंदबाजों – आमिर, हसन अली, शादाब, जुनैद और हफीज को जाता है. यह युवा टीम है और सभी बहुत अच्छा खेले. यह खिताब हमारा मनोबल बढ़ाएगा. हम ऐसे खेले मानो खोने के लिए कुछ नहीं है और अब हम चैंपियन हैं.’

और पढ़े -   रेणुका शहाणे का तारिक फतेह को जवाब: नफरत की जुबान बोलने वाले क्या जाने उर्दू की मिठास

उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए, टीम के लिए और देश के लिए यह बड़ा पल है. मैं अपने मुल्कवासियों का शुक्रगुजार हूं, जिन्होंने हमारा साथ दिया.’ शतक जमाने वाले फखर जमां की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा, ‘वह बेहतरीन खिलाड़ी है. यह उसका पहला आईसीसी टूर्नामेंट था और वह चैंपियन की तरह खेला. वह पाकिस्तान के लिए महान खिलाड़ी साबित होगा. उम्मीद है कि आगे भी अच्छा खेलता रहेगा.’

और पढ़े -   बिहार के बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए आमिर, लोगों से की ये मार्मिक अपील

मैन ऑफ द टूर्नामेंट हसन अली ने कहा कि दबाव के बिना खेलना उनकी सफलता की कुंजी साबित हुई. उन्होंने कहा, ‘मैं लगातार सीख रहा हूं. मैंने कोई दबाव लिए बिना गेंदबाजी की और उसका फल मिला. हम सभी के लिए यह खास पल है.’


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE