salman khan

जोधपुर के भवाद और घोड़ा फार्म में चिंकारा शिकार के मामले में राजस्थान हाईकोर्ट ने सलमान खान को बरी कर दिए जाने के बाद अब नया मोड़ आ गया हैं.

इस केस के मुख्य गवाह हरीश दुलानी ने कहा है कि उन्हें जानबूझकर सुनवाई के दिन कोर्ट नहीं आने दिया गया. क्योंकि सब सलमान खान को बचाना चाहते थे. बता दें, हरीश दुलानी उस जिप्सी के ड्राइवर थे, जिसमें सलमान खान और फिल्म ‘हम साथ साथ हैं’ के बाकी एक्टर्स बैठे थे.

हरीश दुलानी का कहना है कि वो सलमान खान के खिलाफ दिए गए अपने बयान पर कायम है यानी हरीश दुलानी के मुताबिक सलमान खान से 26 से 28 सितंबर की रात चिंकारा का शिकार किया था. हरीश का कहना है कि उसके पिता को धमकी मिली थी जिसके बाद वो डर गया और जोधपुर से भाग गया था लेकिन अगर उसे सुरक्षा मिली तो वो कोर्ट में बयान देने के लिए तैयार है.

हरीश दुलानी ने कहा कि कोर्ट बुलाएगा तो जरुर जाउंगा। मैं भगोड़ा नहीं हूं और मैं सलमान पर दिए गए अपने बयान पर कायम हूं। दुरानी ने 164 के तहत सलमान के खिलाफ बयान दिया था.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें