बात साल 1992 की है जब पूजा भट्ट बॉलीवुड की हॉट अभिनेत्रियों में से एक थी। उस समय अब्दुल शरीफ (21) नाम का एक शख्स उनकी फिल्म ‘सड़क’ देखकर इस कदर प्रभावित हुआ कि उनसे मिलने के लिए भारत आने की ठान ली। अफसोस है कि उसे पूजा भट्ट तो नहीं मिलीं, लेकिन सालों का अंधेरा जरुर मिला। वह पिछले 24 सालों से भारतीय जेल में बंद है।

अब्दुल शरीफ के सिर पर पूजा भट्ट के लिए प्यार और दीवानगी इस कदर हावी थी कि वह पूजा से मिलने के लिए अवैध रूप से वाघा बॉर्डर पार करके भारत आने की कोशिश करने लगा। उसकी इसी दीवानगी ने उसे जेल की काल कोठरी दिखाई। वाघा बॉर्डर पार कर भारत में घुसने की कोशिश कर रहे शरीफ को सिक्योरिटी फोर्सेस ने गिरफ्तार कर लिया। बाद में उसे दो साल की सजा दी गई।

1994 में उसकी सजा तो पूरी हुई, लेकिन वह अपने घर नहीं लौट सका। तब तक अब्दुल अपनी याददाश्त खो चुका था। जिस वजह से उसे उसके मुल्क भी नहीं भेजा जा सका। उसे अपने घर, परिवार के बारे में कुछ भी याद नहीं। वह कभी खुद को पाकिस्तान से तो कभी ईरान से आया हुआ बताता है। जेल अधिकारियों ने ईरान और पाकिस्तान दूतावास से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन अफसोस किसी ने भी उसे अपना नहीं माना। तब से लेकर आज तक भारतीय जेलों में कैदी की जिंदगी गुजार रहा है।

रिपोर्ट के मुताबिक याददाश्त गवांने के इतने सालों बाद भी उसे सिर्फ दो लोगों के नाम याद है, एक तो अपने पिता गुलाम मोहम्मद का और दूसरा पूजा भट्ट का। यही नहीं, वह पूजा को लेकर अपने प्यार का इजहार भी किया करता है। उसने अपने लेफ्ट हैंड पर पूजा भट्ट के नाम का टैटू भी बनवाया हुआ है। (News24)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें