omji

मुंबई – बिग बॉस 10 के प्रतियोगियों में एक शख्स ऐसा है, जिस पर कई तरह के पुलिस केस दर्ज हैं। वह बिग बॉस के घर में पहुंचा तो आराम करने के मूड में था, लेकिन उसे यहां भी दिल्ली पुलिस चैन से रहने नहीं देगी। जानते हैं, वह शख्स कौन है? अरे, कोई और नहीं, बल्कि ओम स्वामी महाराज। महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी करने वाला…बात -बात चीखने वाला…मगरमच्छ के आंसू बहाने वाला बाबा उस सकते में आ गया, जब दिल्ली पुलिस बिग बॉस के घर जा पहुंची। पुलिस को देखते ही बाबा की हालत पतली हो गई।

दरअसल, एक वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ओमजी महराज पर पहले से चल रहे चोरी और आम्र्स एक्ट के केस में उन्हें गिरफ्तार करने बिग बॉस के घर पहुंची। हालांकि ओम स्वामी ने घर से बाहर निकलने से इनकार किर दिया। इस पर पुलिस ने कुछ डॉक्युमेंट्स पर उनके साइन ले लिए हैं।

और पढ़े -   मोदी जी देश में बेटी पैदा करने से भी अब लग रहा है डर: दिव्यांका त्रिपाठी

बिग बॉस 10 के शुरू होने के साथ-साथ हाई-वोल्टेज ड्रामा शुरू हो गया है। दरअसल, बिग बॉस के कंटेस्टंट स्वामी ओमजी महाराज जेल जाने की कगार पर खड़े नजर आ रहे हैं। उनपर साइकल चोरी, हथियार रखने और चोरी के मकसद से जबरन दूसरों के घर में घुसने का आरोप है। साथ ही साथ उनपर हथियार रखने को लेकर भी आम्र्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है। बेहद कम ही लोग जानते होंगे कि बाबा पर ये आरोप किसी और ने नहीं, बल्कि उनके अपने भाई ने लगाया हैं। साथ ही उसके पास से पुलिस ने महिलाओं के अश्लील फोटोज बरामद भी किए हैं, जिनसे वह उन्हें ब्लैकमेल किया करता था।

और पढ़े -   बिहार के बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए आमिर, लोगों से की ये मार्मिक अपील

दिल्ली पुलिस की इन्वेस्टिगेटिव रिपोर्ट के मुताबिक, डकैती और चोरी के अलावा, बाबा पर आम्र्स एक्ट और टाडा के तहत सात मामले दर्ज हैं। डिफेंस कॉलोनी के पुलिस ऑफिसर्स ने बाबा के पास से कई हथियार और गोला बारूद बरामद किए थे। उसके पास से महिलाओं की कुछ अश्लील तस्वीरें भी मिली थीं। बताया जाता है कि इन तस्वीरों से वे उन महिलाओं को ब्लैकमेल किया करते थे।

और पढ़े -   हैदराबाद क्रिकेट संघ लोढ़ा समिति के सुझावों पर नहीं कर रहा अमल: अजहरुद्दीन

गौरतलब है कि बिग बॉस के घर में जाने से ठीक दो दिन पहले दिल्ली हाईकोर्ट में पेश न होने की वजह से बाबा के खिलाफ गैर जमानती वारंट इश्यू हुआ था। लेकिन जब बाबा की तरफ से कोई भी पेश नहीं हुआ, तो उसके खिलाफ फिर से यही वारंट जारी किया गया। बाबा के खिलाफ यह चौथा गैर जमानती वारंट है, जो 2008 में चोरी के एक मामले में जारी किया है। 14 अक्टूबर की सुनवाई से पहले ओमजी ने कोर्ट से वकील की मांग की थी। उसने कहा था कि उसके पास पैसे नहीं हैं, इसलिए वह वकील नहीं रख सकता।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE