भारत के गुलाबी शहर जयपुर में जारी साहित्यिक मेले में भी ‘असहिष्णुता’ पर विवाद की गूंज सुनाई पड़ रही है.

21 जनवरी से शुरू हुए इस पांच दिवसीय साहित्य मेेले में फ़िल्म निर्माता-निर्देशक करण जौहर ने ‘असहिष्णुता’ पर बात की और ‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को दुनिया के सबसे बड़े मज़ाक़’ की संज्ञा दी तो अभिनेत्री काजोल ने अपने अंदाज़ में बात रखी.

kajol

शनिवार को काजोल जयपुर में अश्विन सिंह की किताब ‘सियालकोट सागा’ के विमोचन में पहुँची थीं.

उनसे जब असहिष्णुता पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने पहले तो इसे नज़रअंदाज़ करने की कोशिश की और फिर कहा, ”बॉलीवुड में ऐसी कोई बात नहीं है.”

उन्होंने कहा, “हमारा फ़िल्म जगत हमेशा इन चीज़ों को दर्शाता रहेगा, जो हमारे समाज में हैं. ये चलती रहेंगी और इसमें सभी का स्वागत है. यहाँ न जाति-भेदभाव, न रंग, न नस्ल के और न अनुचित मान है.’

 

इससे पहले करण जौहर ने कहा था, ”लोकतंत्र दूसरा सबसे बड़ा मज़ाक़ है. कहां है अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता? मैं फ़िल्म निर्माता हूँ और हर स्तर पर ख़ुद को बंधा हुआ पाता हूँ. मुझे ऐसा लगता है कि कोई क़ानूनी नोटिस मेरा इंतज़ार कर रहा है.”

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा,”क़ानून जब तक कोठरी में हैं, तब तक ठीक हैं. हमारे देश में क़ानून ऐसे हैं कि अगर बाहर आ गए तो 377 बार उन्हें टॉर्चर किया जाएगा.”

भारत में असहिष्णुता में बढ़ोतरी वाले बयान के लिए शाहरुख़ ख़ान और आमिर ख़ान को कड़ी आलोचना झेलनी पड़ी थी. अभिनेता अनुपम खेर ने भी इस पर बयान दिए थे.

दिसंबर 2015 में फ़िल्म ‘दिलवाले’ के ट्रेलर रिलीज़ के मौक़े पर शाहरुख़ ख़ान ने ‘असहिष्णुता’ के मुद्दे पर पूछे गए प्रश्न पर चुप्पी साध ली जबकि उनके समर्थन में काजोल सामने आई थीं.

शाहरुख़ की चुप्पी के बाद काजोल ने कहा, “आज हम असहिष्णु हैं. मुझसे पूछिए जो पूछना है. आपकी बातों का बेहतर जवाब दूँगी.”

काजोल के सुर में सुर मिलाते हुए अभिनेता वरुण धवन ने कहा, “इस बात पर सवाल करने के लिए यह जगह सही नहीं है. हम यहां फ़िल्म के बारे में बात करने आए हैं और आप अपने सवाल भी वहीं तक सीमित रखें.”

बहरहाल, जयपुर में काजोल ने किताबों से अपने प्यार का ज़्यादा ज़िक्र किया.

उनके अनुसार उन्होंने अभिनेता अजय देवगन से शादी इसी शर्त पर की थी कि वे उनके लिए हॉलीवुड फ़िल्म ‘ब्यूटी एंड द बीस्ट’ में दिखाए जाने वाले पुस्तकालय जैसा ही पुस्तकालय बनवाएंगे.

उन्होंने किताब लॉन्च के दौरान यह भी बताया, ”ऐसा कभी नहीं हुआ कि मैंने अपनी माँ के घर किताबें न देखी हों.”

उनकी मां और अभिनेत्री तनुजा भी मौजूद थीं. काजोल के मुताबिक़ उनकी मां तनुजा के बेडरूम में 400 किताबें हैं.

उन्होंने कहा, “मेरे घर में भी लाइब्रेरी है, बल्कि तीन पुस्तकालय हैं.”

साभार http://www.bbc.com/


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE