nawazuddin-siddiqui

मुजफ्फरनगर | मशहूर अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी के परिवार को एक करोड़ की फिरौती के लिए धमकी मिल रही है. इसके अलावा नवाजुद्दीन के भाई के साथ भी मारपीट की गयी है. उत्तर प्रदेश में मुश्किलें झेल रहा नवाजुद्दीन का परिवार , जल्द ही उत्तर प्रदेश छोड़ उत्तराखंड में बस सकता है. रामलीला विवाद के बाद , नवाजुद्दीन पर उत्तर प्रदेश छोड़ने का भी दबाव बन रहा है.

दरअसल नवाजुद्दीन मूल रूप से मुजफ्फरनगर के एक कस्बे , बुढाना के रहने वाले है. एक छोटे से कस्बे से निकल कर सफलता की उंचाई छूने वाले नवाजुद्दीन का यह सफ़र इतना आसान भी नही रहा. नवाजुद्दीन ने इसके लिए कड़ी मेहनत की और कई मुश्किलों का सामना किया. लेकिन सफलता अपने साथ साथ और भी कई मुश्किलें अपने साथ लेकर आती है. ऐसी ही कई मुश्किलों का सामना आजकल नवाजुद्दीन को करना पड़ रहा है.

और पढ़े -   बाढ़ से हालात हुए बदतर, मनोज बाजपेयी ने नीतीश कुमार से मदद मांगी

नवाजुद्दीन के भाई मिनाजुद्दीन के ऊपर उसके ससुराल वालो ने दहेज़ उत्पीडन और मारपीट का आरोप लगाया था. इस विवाद में नवाजुद्दीन को भी घसीटा गया. इसके बाद नवाजुद्दीन को बुढाना रामलीला कमिटी ने , रामलीला में मारीच का किरदार निभाने का आग्रह किया जिसे नवाजुद्दीन ने स्वीकार किया. लेकिन शिवसेना के विरोध के बाद नवाजुद्दीन को मारीच का किरदार निभाने का अवसर नही मिला.

और पढ़े -   दिलीप साहब से मिलने पहुंचे शाहरुख खान, सायरा बानो ने कहा - आया मुंहबोला बेटा

नवाजुद्दीन के दुसरे भाई फैजुद्दीन को एक करोड़ फिरौती की धमकी मिली है. पुलिस को दी गयी शिकायत में फैजुद्दीन ने बताया की लखनऊ जाते हुए एक अनजान नम्बर से उन्हें फोन आया जिसमे अनजान शख्स ने उनसे एक करोड़ जबरन वसूली की धमकी दी. मिनाजुद्दीन ने इसे अपने सुसराल वालो का काम बताते हुए आरोप लगाया की कुछ दिन पहले उसके साथ , ससुराल वालो ने मारपीट की.

और पढ़े -   मोदी जी देश में बेटी पैदा करने से भी अब लग रहा है डर: दिव्यांका त्रिपाठी

मुंबई में रहने वाले नवाजुद्दीन के भाई शम्स नवाब ने पत्रकारों को बताया की मारपीट और फिरौती की धमकी को देखते हुए हमारा परिवार उत्तर प्रदेश में अपने आप को सुरक्षित महसूस नही कर रहा है. इसलिए हमने उत्तर प्रदेश छोड़ , देहरादून बसने का फैसला किया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE