anupam

अभिनेता अनुपम खेर का कहना है कि पाकिस्तानी कलाकारों के लिए यह काफी महत्वपूर्ण है कि वह भारतीय सैनिकों पर हुए हमले की निंदा करें. हालाकि वह मानते हैं कि कला की कोई सीमा नहीं होती है, लेकिन भारत में काम कर रहे पाकिस्तानी कलाकारों की नैतिक जवाबदेही बनती है कि वह सार्वजनिक रूप से उड़ी हमले की निंदा करें.

और पढ़े -   अक्षय कुमार पर मेहरबान हुई बीजेपी, ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ को किया टैक्स फ्री

अनुपम खेर ने चैनल ‘जिंदगी’ के लिए आयोजित एक समारोह में कहा कि ‘मैं उन्हें उनके देश की निंदा करने के लिए नहीं कह रहा क्योंकि यह उनके लिए काफी मुश्किल है क्योंकि आप वहां रह रहे हैं और राजनैतिक रूप से यह सही कदम नहीं हो सकता है.

उन्होंने आगे कहा, हम उनका स्वागत करते हैं, हम उन्हें मंच और स्थान देते हैं, वे लोकप्रिय होते हैं, वे पैसे कमाते हैं और इसके वे लायक भी हैं. लेकिन इसके लिए अहम है कि उन्हें भारत के लोगों की संवेदनशीलता के प्रति संवेदनशील होना जरूरी है. मैंने भारतीय सैनिकों की हत्या की निंदा की है और उन्हें भी कहना चाहिए। हमने हमेशा ही दोस्ती और अच्छाई दिखाई है.’

और पढ़े -   गौ-आतंकियों से स्वरा भास्कर ने पूछा सवाल - क्या हिंदू धर्म इंसानों का गला काटना सिखाता है ?

अनुपम ने कहा कि पाकिस्तान के कई लोग काफी अच्छे और बेहतरीन मेजबान हैं, लेकिन जब बात हमारे देश और हमारे जवान की आती है तो मैं कूटनीतिज्ञ नहीं हो सकता. मैं अपने देश के प्रति पक्षपाती हूं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE