मुंबई | बॉलीवुड के मशहूर निर्माता निर्देशक महेश भट्ट , अक्सर अपने ट्वीट के लिए सुर्खियों में रहते है. बेहतरीन फिल्मे बनाने के साथ साथ वो सामाजिक मुद्दों से भी सरोकार रखते है और देश के हालातो पर प्रतिक्रिया देते रहते है. इस बार उन्होंने देश विदेश में फैली हिंसा और नफरतो पर अफ़सोस जाहिर करते हुए कई ट्वीट किये. उन्होंने अपने ही अंदाज में शेरो शायरी करते हुए इन हालातो पर तंज कसा.

एक के बाद एक तीन ट्वीट में महेश भट्ट ने लिखा की ‘अब दरिंदो से न हैवानो से डर लगता है, क्या जमाना है की इंसानों से डर लगता है’. अपने अगले ट्वीट में उन्होंने कहा , ‘इज्जत-ए नफ्स किसी शख्स की महफूज नहीं, अब तो अपने ही निगहबानों से डर लगता है.’ इन ट्वीट के जरिये महेश भट्ट दुनिया में फैली हिंसा की तरफ इशारा कर रहे थे. इनमे आतंकवादी हमले भी शामिल थे और शक्तिशाली देशो द्वारा छोटे देशो पर किये जाने वाले हमले भी.

अपने अगले ट्वीट में मुस्लिम को मुस्लिम का दुश्मन करार देते हुए उन्होंने लिखा, ‘खूंरेज़ी का ये आलम है खुदा खैर करे, अब मुसलमानों को मुसलमानों से डर लगता है.’ माना जा रहा है की महेश भट्ट इन ट्वीट के जरिये उन हालातो पर तंज कस रहे थे जो पिछले कुछ दिनों में पैदा हुए है. देश में गौरक्षको की गुंडागर्दी लगातार बढ़ रही है तो इंग्लैंड और काबुल में हुए आतंकवादी हमले में कई लोगो को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है.

और पढ़े -   बाढ़ से हालात हुए बदतर, मनोज बाजपेयी ने नीतीश कुमार से मदद मांगी

बताते चले की बुधवार को अफगानिस्थान की राजधानी काबुल में हुए एक आत्मघाती हमले में करीब 85 लोग मारे गए थे. यह हमला भारतीय दूतावास के बेहद करीब हुआ. हालाँकि दूतावास के सभी कर्मचारी सुरक्षित थे. इन हमलो के बाद ही महेश भट्ट ने ये ट्वीट किये. उनके इन ट्वीट पर काफी लोगो ने प्रतिक्रिया भी दी. कुछ उनका समर्थन करते देखे गये तो कुछ ने उनको ट्रोल करना भी शुरू कर दिया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE