अभिनेता कमल हासन ने देश में आतंकवाद को लेकर अपनाए जा रहे दोहरे रवैये पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि अब ये नहीं कहा जा सकता कि देश में ‘हिंदू आतंकवाद’ मौजूद नहीं है.

एक तमिल पत्रिका आनंद विकट में लिखे अपने लेख में उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि पहले हिन्दू दक्षिणपंथी संगठन हिंसक घटनाओं से परहेज करते थे, लेकिन अब परिस्थितियां बिल्कुल इसके विपरीत हैं. उन्होंने कहा, ‘दक्षिणपंथी समूह हिंदू आतंकवाद ना होने की बात नहीं कह सकते क्योंकि यह उनके कैंप में भी फ़ैल चुका है.’

हासन ने लिखा है कि दक्षिणपंथियों को अगर ‘हिंदू आतंकवादी’ कहा जाता है तो वे किस आधार पर इसे गलत कह सकते हैं. उन्होंने कहा कि दक्षिणपंथियों को ये समझना चाहिए कि हिंसात्मक गतिविधियों से कभी किसी को कोई फायदा नहीं होता है.

इस दौरान उन्होंने बीजेपी में शामिल होने की अटकलों पर भी यह कहकर विराम लगा दिया कि भगवा मेरा रंग नहीं हो सकता. हासन के इस बयान से बीजेपी नेताओं का गुस्सा उबाल पर है. हालांकि हासन ने लेख में केरल सरकार की तारीफ भी की. उन्होंने लिखा कि केरल ने सांप्रदायिक हिंसा से तमिलनाडु के मुकाबले बेहतर ढंग से निपटा है.

बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने हासन को नैतिक तौर पर भ्रष्ट बताते हुए कहा कि अभी तक ‘हिंदू आतंकवाद’ के कोई सबूत नहीं हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE