abhay-deol-face

हैप्पी भाग जाएगी, एक चालीस की लास्ट लोकल, देव-डी जैसी फ़िल्में देने वाले अभय देओल को फिल्म इंडस्ट्री में एक छवि एक संजीदा किस्म के कलाकार की है, उनकी फिल्मों के चयन से लेकर अभिनय तक में एक ठहराव देखने को मिलता है लेकिन उनका नया ब्यान मोदी-भक्तो को कतई नागवार गुज़र सकता है.

आजकल पाकिस्तानी कलाकारों को भारत में काम करने को लेकर जो राजनीती के अखाड़े में उठापटक का दौर जारी है, सलमान से शुरू हुए इस भाजपा विरोधी दंगल में अनुराग कश्यप, ओम पूरी, इमरान खान, करण जौहर के अभय देओल का नाम भी जुड़ गया है लेकिन अभय का बयान कुछ ऐसा है जो केंद्र सरकार की कार्य-शैली पर सवालिया निशान लगा रहा है.

हाल ही में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब अभय से पाकिस्तानी कलाकारों पर लगे बैन पर उनकी राय जाननी चाही, तो उन्होंने कहा कि वह इस बारे में कुछ नहीं कहेंगे, क्योंकि वह केंद्र की मोदी सरकार को गंभीरता से नहीं लेते हैं।

गौरतलब है हाल ही में अभय देओल फिल्म ‘हैप्पी भाग जाएगी’ में नजर आए थे जिसमें पाकिस्तानी कलाकार अली फज़ल भी महत्वपूर्ण भूमिका में थे। अभय ने भी फिल्म में एक पाकिस्तानी युवक का किरदार अदा किया था।

उन्होंने कहा, ‘अगर आप पाकिस्तान पर प्रतिबंध लगाना चाहते हैं, तो पूरी तरह उससे दूरी बना कर रखें। सिर्फ पाकिस्तानी कलाकारों पर प्रतिबंध लगाने से कुछ नहीं होगा। पाकिस्तान से होने वाले व्यापार पर भी बैन लगाइए, वहां से आने वाली चीजों पर प्रतिबंध लगाइए। अगर आप कोई काम आधा ही करते हैं, तो कोई भी आपकी बात को तवज्जो नहीं देता। मैं भी केंद्र सरकार को गंभीरता से नहीं लेता हूं।’

अभय देओल यहीं नहीं रुके, आगे उन्होंने कहा, ‘अभी जो कुछ हो रहा है, उससे नहीं लगता कि आप वो करना चाहते हैं। इससे लगता है कि आप केवल पब्लिसिटी पाने के लिए इतना हंगामा कर रहे हैं। अगर इससे पाकिस्तान को कोई फर्क पड़ता या इससे हमारे जवानों को कोई मदद मिलती तो मैं जरूर आपके इस फैसले का समर्थन करता।’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें