i didnt eat maggi nor let eat to my relative

हरिद्वार। कभी नेस्ले की मैगी के विज्ञापन में इसे स्वादिष्ट एवं स्वास्थ्यवर्धक बताकर खाने और खिलाने की सलाह देने वाली धक-धक गर्ल माधुरी दीक्षित का कहना है उन्होंने नेस्ले की मैगी न तो कभी खाई, न किसी अपने को खिलाई ही। उन्हें तो मैगी में मानव स्वास्थ्य के लिए खतरनाक ‘एमएसजी’ (मोनो सोडियम ग्लूकोमिट) होने का भी इल्म नहीं है।

माधुरी ने यह बात प्रदेश में मैगी पर लगे बैन के दौरान जिला खाद्य सुरक्षा विभाग की ओर से भेजे गए कानूनी नोटिस के लिखित जवाब में कही। इसकी पुष्टि जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी एमएन जोशी ने की है। उन्होंने बताया कि फिल्म अभिनेत्री माधुरी दीक्षित को यह नोटिस मई 2015 में भेजा गया था।

और पढ़े -   दो साल के बच्चे का लीवर ट्रांसप्लांट करने के लिए सलमान खान की संस्था ने दिए 2 लाख रूपए

वकील के माध्यम से भेजा गया माधुरी का जवाब विभाग को इसी साल जनवरी में मिला। इसमें उन्होंने फिलवक्त और भविष्य में नेस्ले की मैगी का विज्ञापन न किए जाने की भी जानकारी दी है। बता दें कि मैगी में मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक एमएसजी होने की बात आने पर मैगी के इस्तेमाल व बिक्री पर पूरे राज्य में पिछले वर्ष मई से अक्टूबर तक प्रतिबंध रहा।

और पढ़े -   जीत के बाद बोले सरफराज - खोने के लिए कुछ नहीं था लेकिन अब हम चैंपियन हैं

जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी के अनुसार नोटिस के जवाब में माधुरी ने स्पष्ट किया कि ‘मुझे इस बात की जानकारी नहीं थी कि नेस्ले की मैगी में एमएसजी नामक कोई हानिकारक तत्व है और यह मानव स्वास्थ्य के खतरनाक है।’

जोशी ने बताया कि फिल्म अभिनेत्री ने अपने जवाब में फिलवक्त एवं भविष्य में नेस्ले की मैगी का विज्ञापन न करने की बात भी कही है। माधुरी के इस जवाब को हरिद्वार की एडीएम कोर्ट में दाखिल कर दिया गया है, जहां इस मामले की सुनवाई चल रही है।

और पढ़े -   अक्षय कुमार पर मेहरबान हुई बीजेपी, ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ को किया टैक्स फ्री

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE