मुंबई. मुंबई हाईकोर्ट ने बालीवुड अभिनेता आमिर खान और स्टार टेलीविजन से उनके कार्यक्रम में ‘सत्यमेव जयते’ शब्द के इस्तेमाल के लिए जवाब मांगा है. कोर्ट ने यह कार्यवाई एक सामाजिक कार्यकर्ता की उस जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए की है जिसमें ‘सत्यमेव जयते’ शब्द के इस्तेमाल के लिए आपत्ति जताई गई है.

Amir khanसमाजिक कार्यकर्ता मनोरंजन राय का कहना है कि ‘सत्यमेव जयते’ शब्द भारत के प्रतीक चिह्न का हिस्सा है और इसलिए उसका इस्तेमाल करना भारतीय राज्य प्रतीक चिह्न (निषेध एवं अनुचित इस्तेमाल) कानून और भारतीय राज्य प्रतीक चिह्न (उपयोग एवं नियमन) के तहत उल्लंघन है.

और पढ़े -   ऋषि कपूर ने महिला को कहा 'कुतिया', सीधे मेसेज भेजकर भड़ास निकालने का लगा आरोप

गृह मंत्रालय का क्या है कहना ?

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस याचिका के जवाब में कहा है कि सत्यमेव जयते शब्द का इस्तेमाल करने से कानून एवं नियमों का उल्लंघन नहीं होता है. मंत्रालय के  सेक्रेटरी प्रदीप पांडेय ने अपने हलफनामे में कहा है, ‘कानून और नियमों के मुताबिक देश के पूरे प्रतीक चिह्न का गलत इस्तेमाल मना है. लेकिन शब्द ‘सत्यमेव जयते’ का टेलीविजन प्रोग्राम में इस्तेमाल कानून का वॉयलेशन नहीं है’.

और पढ़े -   प्रियंका चोपड़ा ने की मलाला यूसुफजई से मुलाकात, ट्विटर पर तस्वीर की शेयर

क्या कहा कोर्ट ने ?

कोर्ट ने गृह मंत्रालय के रुख पर जवाब देते हुए कहा है कि अगर भविष्य में कोई शब्दों को छोड़कर पूरे प्रतीक चिह्न का इस्तेमाल करता है तो क्या तब भी केंद्र यही जवाब देगा.

कोर्ट ने अभिनेता आमिर खान और स्टार टीवी को इस मामले में एफिडेविट दायर करने के लिए 20 अप्रैल तक का समय दिया है. (inkhabar)

और पढ़े -   बुलेट ट्रेन को लेकर आशुतोष राणा का तंज कहा, उधार की 'चुपड़ी' रोटी से अच्छी श्रम से अर्जित की गयी 'सुखी' रोटी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE